गंडक नदी की तेज धारा में फंसी नाव, 40 लोगों की एनडीआरएफ ने बचाई जान

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: शनिवार को पूर्वी चम्पारण जिलान्तर्गत संग्रामपुर प्रखण्ड के बाढ़ प्रभावित भवानीपुर ग्रामीण क्षेत्र में रेस्क्यू ऑपेरशन में जुटी 9वीं बटालियन एनडीआरएफ के बचावकर्मियों ने गंडक नदी की धारा में फंसी एक नौका को देखा जिसमें लगभग 40 लोग सवार थे. टीम ने सभी को सुरक्षित बाहर निकाला. एनडीआरएफ रेस्क्यू बोट पर सहायक कमान्डेंट अरविन्द मिश्रा और अरेराज अनुमंडल के अनुमंडलाधिकारी मौजूद थे.

9वीं बटालियन एनडीआरएफ के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बताया कि बाढ़ के तेज धारा में फंसी नौका के नजदीक जाने पर एनडीआरएफ के कार्मिकों को मालुम चला कि नौका के इंजन में तकनीकी खराबी आने की वजह से नौका अनियंत्रित होकर बाढ़ की तेज धारा में बहने लगी. फिर नौका चालकों ने बहुत मुश्किल से इस अनियंत्रित नौका को बाढ़ के मजधार में मौजूद एक पेड़ की मदद से रोका. लगभग 02 घंटों तक यह नौका तेज धारा में फंसी रही और उसमें सवार लगभग 40 स्थानीय लोगों के जान पर आफत आ गई.



उन्होंने बताया कि मुसीबत की इस घड़ी में एनडीआरएफ की यह टीम एक देवदूत के रूप में घटनास्थल पर अचानक बिना सूचना के पहुंची. सहायक कमान्डेंट अरविन्द मिश्रा के नेतृत्व में 9वीं बटालियन एनडीआरएफ के बचावकर्मियों ने स्थिति को कुशलता से संभाला और गंडक नदी तेज धारा में फंसी नौका और उसपर सवार सभी स्थानीय लोगों को सुरक्षित किनारे तक पहुंचाया.

कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बाढ़ प्रभावित इलाके में रहने वाले लोगों को आगाह किया कि किसी भी नौका पर अपना जान जोखिम में डालकर उसके क्षमता से अधिक लोग बिल्कुल ही ना सवार हो. स्थानीय लोगों की समझदारी से ही नौका दुर्घटना की घटना को रोका जा सकता है.