सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों अपने – अपने 15 वर्षों के कार्यों का श्वेत पत्र जारी करें: पप्पू यादव

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले 15 वर्षों से जनता को धोखा तो दे ही रहे है. अब कोरोना वायरस जैसी महामारी में भी आम लोगों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. चिराग पासवान ने जब सरकार को आईना दिखाया तो जदयू के नेताओं ने उनपर हमला करना शुरू कर दिया. वर्तमान सरकार जनता की जान को खतरे में डाल चुनाव कराने पर आतुर है.

राज्य में दलितों और पिछड़ों के राजनीति में अपर्याप्त प्रतिनिधित्व पर बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि जदयू और राजद ने हमेशा से दलितों और पिछड़े वर्गों का इस्तेमाल अपने राजनीतिक फायदे के लिए किया है. फिर चाहे वो जीतन राम मांझी हो या श्याम रजक या उदय नारायण चौधरी. सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों अपने 15-15 वर्षों के कार्यों के बारे में एक श्वेत पत्र जारी करें.



जाप अध्यक्ष ने कहा कि 104 पंचायत घूमने के बाद मैं यह कह सकता हूं कि बिहार की जनता बदलाव चाहती है, एक नया विकल्प चाहती है. मैं कांग्रेस से आग्रह करूंगा कि वो मीरा कुमार को आगे लाए और राज्य की जनता के सामने एक नया विकल्प प्रस्तुत करें. मैं अब भी अपनी बात पर अडिग हूं कि बिहार का नेतृत्व किसी दलित या महादलित समुदाय का नेता करें.

कोरोना वायरस जांच में धांधली का आरोप लगाते हुए पप्पू यादव ने कहा कि सरकार जान बूझकर निगेटिव लोगों को पॉजिटिव कर रही है. इसलिए ही अमृत प्रत्यय को स्वास्थ्य विभाग का सचिव बनाया गया है. सरकार लोगों को महामारी में उलझा चुनाव कराना चाहती है.

इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एज़ाज अहमद,राजेश रंजन पप्पू, राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा कार्यकारी अध्यक्ष, अवधेश लालू, सूर्यनरायन सहनी, बांकीपुर रंजन कुमार नन्दवशनी, अमित कुमार बाजार समिति, शंकर राय बर्ड 30 पटना, शर्मिला देवी राजेन्द्र नगर, एम डी कलीमुल्ला भाई फुलवारी, ज्वाल महतो बेगूसराय, अनिल वर्मा शिवहर, अनिल यादव मुज्जफरपुर, एम डी सानू नीरज बेगूसराय रहे मौजूद रहे,