Exclusive: कैंसिल होगा ब्रांड प्रोटेक्शन का लाइसेंस! पटना पुलिस ने कंपनी रजिस्ट्रार को लिखा लेटर

पटना/अमित जायसवाल : फर्जीवाड़ा के खेल में शामिल ब्रांड प्रोटेक्शन कंपनी का लाइसेंस कैंसिल हो सकता है. इसके लिए पटना पुलिस ने बिहार के कंपनी आॅफ रजिस्ट्रार को एक लेटर लिखा है. लेटर के जरिए पटना पुलिस ने कंपनी आॅफ रजिस्ट्रार से ब्रांड प्रोटेक्शन सर्विसेज प्राइवेट लिमिडेट का लाइसेंस कैंसिल करने की मांग की है. सोर्स की मानें तो 15 जुलाई 2019 को ही पुलिस की तरफ से इस लेटर को लिखा गया है. जो अब जाकर सामने आया है. अगर ऐसा हुआ तो कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर मुस्तफा हुसैन व उनके भाई सैय्यद मुमताज हुसैन की मुश्किलें और बढ़ जाएगी.

दरअसल, पटना पुलिस की तरफ से ये कार्रवाई अगमकुआं थाना में दर्ज एफआईआर नंबर 759/18 के मामले में की गई है. इस केस की जांच कर रहे इंवेस्टिगेशन आॅफिसर ने कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर दिया है. आपको बता दें कि कंपनी आॅफ रजिस्ट्रार को लिखा गया पटना पुलिस का लेटर लाइव सिटीज के हाथ लगा है.

सोर्स की मानें तो पटना पुलिस ने फर्जीवाड़ा का खेल खेलने वाले ब्रांड प्रोटेक्शन कंपनी और उसके मालिक के उपर लगाम लगाने की पूरी तैयारी कर ली है. इस कंपनी और उसके मालिक के खिलाफ पटना के अगमकुआं थाना के अलावा भी दूसरे थानों में एफआईआर दर्ज है. सोर्स के अनुसार एक—एक कर पटना पुलिस फर्जीवाड़े के सभी मामलों की गहनता से जांच कर कार्रवाई करने के मूड में है.

इस तरह से की थी डेनमार्क की कंपनी से ठगी

डेनमार्क की कंपनी एच लुडबैक है. जो मेडिसिन बनाती है. पिछले साल 2018 में इस कंपनी को ब्रांड प्रोटेक्शन के मैनेजिंग डायरेक्टर मुस्तफा हुसैन ने अगमकुआं थाना का एफआईआर नंबर 387/18 की एक कापी दिखा कर उससे 8 लाख 12 हजार 333 रुपए ठग लिए थे. डेनमार्क की कंपनी को मुस्तफा हुसैन ने ये बताया गया था कि उनके ब्रांड की नकली मेडिसिन बेची जा रही थी. जिसका पता चलने पर उनकी कंपनी ब्रांड प्रोटेक्शन ने पुलिस के साथ मिलकर छापेमारी की थी. काफी सारी नकली दवाएं जब्त की गई. इसी के बाद अगमकुआं थाना में एफआईआर दर्ज किया गया था. पहले तो डेनमार्क की कंपनी ने डॉलर में मुस्तफा हुसैन को रुपए दे दिए. लेकिन बाद में कंपनी को मुस्तफा की चालबाजी का पता चला. जिसके बाद कंपनी की एक टीम ने अगमकुआं थाना पहुंच कर मुस्तफा हुसैन के तरफ से बताए गए एफआईआर नंबर 387/18 की जांच की गई. तब पता चला कि केस नंबर 387/18 फर्जी है.

फर्जीवाड़ा का ये खेल सामने आने के बाद ही 1 अक्टूबर 2018 को अगमकुआं थाना में ब्रांड प्रोटेक्शन कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर मुस्तफा हुसैन व उनके भाई सैय्यद मुमताज हुसैन के खिलाफ एफआईआर नंबर 759/18 दर्ज किया गया था.

देखें लेटर – 

About परमबीर राजपूत 2426 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*