मुजफ्फरपुर सांसद का ‘4G’ फॉर्मूला – गरीबी, गांव, गंदगी और गर्मी बच्चों की मौत की वजह

भाजपा सांसद अजय निषाद (फाइल फोटो ANI)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में चमकी बुखार यानि AES का कहर जारी है. अबतक इस बीमारी से मुजफ्फरपुर के सिर्फ दो अस्पतालों में 108 बच्चों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. मौतों के बीच प्रदेश के नेताओं के बेतुके बयान आने जारी है. मुजफ्फरपुर के भाजपा सांसद अजय निषाद ने कहा है कि गरीबी, गांव, गंदगी और गर्मी बच्चों की मौत की वजह है.

अजय निषाद ने पत्रकारों से कहा कि इंसेफलाइटिस के मामले हर साल आते हैं लेकिन इस साल इसकी संख्या में इजाफा हुआ है. उन्होंने कहा कि संभव है इसका कारण प्रचंड गर्मी हो.

गांव, गर्मी, गरीबी और गंदगी को बीजेपी सांसद ने 4जी बताया और कहा कि अति पिछड़ा समाज के लोग इस बीमारी से ताल्लुक हैं. उनका रहन-सहन नीचे है. बच्चे बीमार हैं.

मुजफ्फरपुर में सीएम नीतीश का विरोध, लोगों ने लगाए ‘वापस जाओ’ के नारे

एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से यहां 100 से अधिक बच्चों की मौत के बाद SKMCH अस्पताल पहुंचे नीतीश के विरोध में लोगों ने नारेबाजी की और ‘नीतीश कुमार वापस जाओ’ के नारे भी लगाए.

बता दें कि नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी बच्चों की मौत के 17 दिन बाद मंगलवार को यहां स्थिति का जायजा लेने पहुंचे थे. इसका बहुत कड़ा विरोध नीतीश कुमार को सामना करना पड़ा. सीएम मुजफ्फरपुर आते ही सबसे पहले आईसीयू में गए. और बच्चों के साथ उनके परिजनों से मिलने पहुंचे.

15 जून की शाम अचानक गर्मी बढ़ने के कारणों की जांच करायेगी बिहार सरकार

सीएम SKMCH अस्‍पताल पहुंचकर मृत बच्‍चों के माता-पिता से मिल रहे हैं और इंसेफेलाइटिस पीड़ित बच्‍चों का भी हालचाल पूछ रहे हैं. हालांकि सीएम के दौरे को लेकर पहले से ही विरोध की आशंका थी जिसको लेकर SKMCH अस्पताल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे बावजूद इसके लोगों ने परिसर के बाहर जमकर नारेबाजी की.

About परमबीर सिंह 2196 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*