‘चाचा, शासन चला रहे है या सर्कस? सुबह आईने में ख़ुद से साक्षात्कार होता है कि नहीं?’

तेजस्वी यादव, नीतीश कुमार, Motihari, professor allegedly, assaulted, facebook post,criticizing, atal bihari Vajpayee,bihar, मोतिहारी, बिहार, मोतिहारी, अटल बिहारी वाजपेयी, फेसबुक पोस्ट, tejashwi yadav, tejpratap yadav, manoj jha, sanjay singh, nitish kumar

लाइव सिटीज डेस्क: बीते दिनों बक्सर के कोरान्सरया महादलित टोला में भूख से हुए दो महादलित बच्चों की मौत के मामले में सियासत तेज हो गई है. मौत पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने बीजेपी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है. साथ ही कई वरिष्ठ राजद नेता बुधवार देर रात पीड़ित परिवार से मिलने गए. राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह, पूर्व मंत्री शिवचन्द्र राम, पूर्व मंत्री आलोक मेहता जिला अध्यक्ष शेषनाथ सिंह, विधायक शम्भू यादव और संतोष भारती समेत कई पार्टी के नताओं ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की. तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर हमला बोला है.

क्या लिखा है तेजस्वी यादव ने

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा है कि सुशासन का ढिंढोरा पीटते व सभी दलों की चौखट पर मत्था टेक कुर्सी पर कुंडली मारे हुए पलटू चाचा को 13 साल हो गए है. दो बच्चें भूख से मर गए लेकिन छुपासन बाबू पूर्णत: चुप. कोई संवेदना और शोक संदेश नहीं. चाचा, शासन चला रहे है या सर्कस? सुबह आईने में ख़ुद से साक्षात्कार होता है कि नहीं?

झारखंड में भी भूख से मौतें हो चुकी है

तेजस्वी ने कहा कि जो लोग विकास, सुशासन और प्रशासन की बात करते हैं, उनकी पोल खुल गई है. झारखंड में भी भूख से मौतें हो चुकी है. चोर दरवाजे से आए डबल इंजन की सरकार का विकास और गरीबी को लेकर कोई एजेंडा नहीं है. इनके पास सत्ता और कुर्सी बचाने के अलावा कोई काम नहीं है. ये लोग केवल ठगने का काम करते हैं.

बता दें, दोनों बच्चों की मौत लगभग एक सप्ताह पहले 28 और 29 अगस्त को हुई है लेकिन मामले का खुलासा मौत के एक सप्ताह बाद हुआ. इस मामले में मृतक बच्चों की मां कहना है कि दोनों की मौत भूख से हुई है. पीड़ित मां के मुताबिक, कुछ ही दिन पहले उसके पति सड़क जाम करने के बाद जेल गए थे. जिसके बाद से उनके घर की माली हालत खराब थी.

यह भी पढ़ें – तेजस्वी यादव का भद्दा मजाक उड़ा दिया जदयू ने, कहा-अनपढ़ भी अंग्रेजी में नैतिकता बखान रहे हैं

बक्सर में भूख से दो बच्चों की मौत, पिता हैं जेल में, परिवार को नहीं मिल रहा था राशन

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*