बेटे के धर्म के साथ-साथ लोजपा नेता का भी फर्ज निभा रहे हैं चिराग, प्रत्याशियों से किया वर्चुअल संवाद

लाइव सिटीज, सेंटिरल डेस्क: लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान के निधन के बाद चिराग अपने बेटे का फर्ज खूब अदा कर रहे हैं. बेटे के फर्ज के साथ-साथ वे पार्टी के लोजपा नेता का भी फर्ज निभा रहे हैं. चुनाव नजदीक होने के कारण चिराग पासवान अपने घर से ही कार्यकर्ताओं से वर्चुअल संवाद कर रहे हैं. साथ ही नीतीश कुमार पर भी जमकर हमला बोल रहे हैं.

दरअसल चिराग पासवान पिता के कर्मकांड में बंधे हैं. इस कारण वे 10 दिनों तक अपने घर से बाहर नहीं जा सकते हैं. लेकिन उन्होंने पार्टी प्रत्याशियों में जोश भरने में कोई कसर नहीं छोड़ा. उन्होंने अपने पहले फेज के चुनाव के लिए प्रत्याशियों से वर्चुअल बातचीत की. उन्होंने कहा कि मैं बिहारी हूं और मुझे इस बात का गर्व भी है. बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट ही लोजपा का सिर्फ एक उद्देश्य है.



लोजपा अध्यक्ष चिराग ने कहा कि बिहार में हमारी पार्टी धर्म और जात की राजनीति नहीं करती है. हमारा सिर्फ एक ही मुद्दा है, बिहार और बिहारी. हम इसी आधार पर ही जनता से वोट मांगेगे. उन्होंने कहा कि कुछ लोग बाटो और राज करो की नीति पर चल रहे हैं. लेकिन हमें वैसे लोगों से बिहार की जनता को बचाना है. चिराग पासवान ने आगे कहा कि कोरोना काल में बिहार आने वाले लोगों को रोकने वालों के साथ चिराग पासवान काम नहीं करता सकता है.

इस जनसंवाद के दौरान लोजपा अध्यक्ष ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी से हमारा दिल का रिश्ता है. प्रधानमंत्री की तस्वीर नीतीश कुमार जी को लगाने की जरूरत है. हमारी सोच उनसे मिलती है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी हमारे पिता समान हैं. उन्होंने मेरा हरदम साथ दिया है.