लाइव सिटीज, सेट्रल डस्क: बिहार में एनडीए से रालोसपा के अलग होने को लेकर राजनीति गरम है. एक ओर जहां उपेंद्र कुशवाहा लगातार जदयू और बीजेपी पर खुलकर हमला बोल रहे हैं. वहीं वे महागठबंधन में भी अपने जाने की पुष्टि खुल कर नहीं कर रहे हैं. उनके इस रवैये से महागठबंधन से लेकर एनडीए तक में खींज बढ़ रही है. शिवानंद तिवारी के बाद अब लोजपा सांसद चिराग पासवान ने भी कुशवाहा को अपनी स्थिति स्पष्ट करने की बात कही है.

कुशवाहा नहीं स्पष्ट कर रहे अपनी स्थिति

दरअसल रालोसपा अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा एनडीए में सीटों के बटवारे को लेकर बीजेपी से खफा चल रहे हैं. उनके कई बार दिल्ली जाने के बाद भी न तो उनकी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह न ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोई मुलाकात और बात हो सकी. वही इसी बीच जदयू और बीजेपी के बराबर सीटों पर लड़ने की बात और रालोसपा को 2 सीटे मिलने की खबरों के बाद से ही कुशवाहा एनडीए से अलग ट्रैक पर चल पड़े हैं.

वहीं कुशवाहा ने बीजेपी को सीटों को लेकर 30 नवंबर तक फैसला लेने की बात कही थी. लेकिन अभी तक बीजेपी के आलाकमान की ओर से कोई फैसला नहीं आया है. वहीं कल कुशवाहा ने बीजेपी और जदयू पर हमला बोलते हुए कल मोतिहारी में कहा कि अब याचना नहीं रण होगा. वही वे दूसारी तरफ ना ही केन्द्रीय मंत्री का पद छोड़ रहे हैं न ही महागठबंधन में जाने की बात खुले तौर पर कर रहे हैं.

जल्द निर्णय लें कुशवाहा

लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान के बेटे और जमुई सांसद चिराग पासवान ने एक बार फिर से उपेन्द्र कुशवाहा को अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा है. चिराग ने कहा कि नैतिकता के आधार पर कुशवाहा का व्यवहार सही नहीं है. चिराग ने कहा कि वे जल्द से जल्द निर्णय लें. इससे पहले भी चिराग उपेन्द्र कुशवाहा को लेकर खुले तौर पर बोल चुके हैं. उन्होंने पहले भी कुशवाहा को लेकर कह दिया था कि उनके जाने से एनडीए को काई फर्क नहीं पड़ने वाला है.

वही महागठबंधन की ओर से भी आज राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानेद तिवारी ने भी कुशवाहा को अपनी स्थिति जल्द स्पष्ट करने को कहा है. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कुशवाहा के बोल उनके काम से नही मिल रहे. वे नै​कतिकता के आधार पर सही नहीं कर रहे हैं. तिवारी ने कहा कि वे ऐसा कर के खुद के ही साख पर बट्टा लगा रहे हैं.