बिहार पुलिस सप्ताह : सीएम नीतीश का विरोधियों पर तंज, कहा- बहुत लोग खुद को ज्ञानी समझते हैं…

लाइव सिटीज, पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को एक बार फिर कहा कि प्रदेश में कानून का राज है. लेकिन कुछ लोग माहौल खराब करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि 2005 के बाद बिहार का माहौल बदला है और यहां आगे भी कानून का राज कायम रहेगा. वे बिहार पुलिस सप्ताह समारोह के मौके पर मिथिलेश स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

इसके पहले सीएम नीतीश कुमार ने परेड का निरीक्षण किया. उन्होंने बेहतर काम करने वाले पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया. बता दें कि बिहार पुलिस सप्ताह 22 फरवरी से चल रहा है और इसका समापन 27 फरवरी को होगा. इसके पहले 25 फरवरी को रन फोर हेल्थ का आयोजन किया गया था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज अपने संबोधन में शराबबंदी की उपलब्धियों को गिनाया तो बापू के सात सिद्धांतों को भी याद किया और इसी बहाने विरोधियों पर तंज कसा. उन्होंने साइकिल योजना की फिर से प्रशंसा की और कहा कि इसके लागू होने से लड़कियों की स्कूल जाने की रफ्तार बढ़ी है. वरना पहले तो पांचवीं कक्षा के बाद लड़कियां स्कूल जाती ही नहीं थीं. आरक्षण लागू करने से अब हर क्षेत्र में महिलाओं का दबदबा बढ़ा है. महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है.

मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिये तेजस्वी यादव पर तंज कसा और कहा कि बहुत लोग खुद को ज्ञानी समझते हैं, जबकि चरित्र के बिना ज्ञान सामाजिक पाप है. आज कुछ लोग सबसे ज्यादा लिखते हैं और क्या-क्या लिखते हैं, यह सबको पता है. उन्होंने बापू के विचारों को लेकर कहा कि जब तक धरती है, तब तक गांधी के विचार जीवित रहेंगे. महात्मा गांधी ने कहा है कि नैतिकता के बिना व्यापार, मानवता के बिना विज्ञान और त्याग के बिना पूजा सामाजिक पाप है. त्याग के बिना पूजा का कोई लाभ नहीं होनेवाला है, इसे कुछ लोगों को समझना चाहिए.