वैशाली में नीतीश कुमार का विपक्ष पर हमला, कहा- काम के आधार पर दीजिएगा वोट, प्रचार के आधार पर नहीं

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने आखिरी चुनावी सभा करने के लिए वैशाली के राजापाकर विधानसभा क्षेत्र पहुंचे. यहां उन्होंने जेडीयू प्रत्याशी महेंद्र प्रताप के लिए वोट मांगा. साथ ही उन्हें जीताने की अपील की. सीएम ने कहा कि मेरा एक ही कहना है कि काम के आधार पर वोट मिलना चाहिए. लेकिन कुछ लोगों को काम से मतलब नहीं है. सिर्फ वोट मांगने आ जाते हैं.

सीएम ने कहा कि वैसे लोग सिर्फ प्रचार करते हैं और समाज में विवाद पैदा करते हैं. उन्होंने कहा कि वे लोग सिर्फ जनता को भटकाते रहते हैं. लेकिन काम से उनका कोई मतलब नहीं है. नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोगों ने पिछले 15 साल से जो काम करने का मौका मिला है, उसके बाद अपने लक्ष्य के अनुसार काम करते रहे हैं.



सीएम ने कहा कि हमारा एक ही लक्ष्य है. न्याय के साथ विकास करना. जिसको आधार मानकर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने हर तबके के उत्थान के लिए काम किया है. हर इलाके में काम किया है. सीएम ने कहा कि जब हम सत्ता में आए तो उससे पहले अपराध की क्या स्थिति थी. लोग घर से बाहर निकलने में कतराते थे. लेकिन अब देख लीजिए. कभी ऐसा महसूस भी होता है क्या?

नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि केंद्र सरकार अपराध को लेकर रिपोर्ट जारी करती है. आपको जानकर ताज्जूब होगा कि इतनी आबादी वाला राज्य होने के बावजूद बिहार 23वें स्थान पर है. सीएम ने कहा कि हालांकि कुछ लोग तो होते ही हुड़दंग मचाने के लिए. वे अपना काम करते रहेंगे. लेकिन हमें उसपर भी नियंत्रण पाना है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को हमारा काम नहीं दिखता है. उन्हें बस हमारी आलोचना ही करनी है. बिहार के मुखिया ने कहा कि बोलते रहिए जितना बोलना है. अगर हमारे बारे में बोलने में आपको प्रचार मिलता तो आप चालू रहिए. सीएम ने कहा कि अनुभव की अभी बहुत कमी है. कुछ भी कह देते हैं. सीएम ने कहा कि 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का ऐलान कर दिया. लेकिन ये नहीं बताया कि पैसा कहां से आएगा.