पहले शाम को बाहर निकलते वक्त कैसा रहता था माहैल? अब तो किसी को नहीं लगता डर- नीतीश कुमार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने चुनावी प्रचार के लिए सीतामढ़ी के बेलसंड विधानसभा पहुंचे. यहां उन्होंने जेडीयू प्रत्याशी सुनीता सिंह चौहान के लिए वोट मांगा. साथ ही उन्होंने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई. सीएम ने कहा कि जबसे आपने का काम करने का मौका दिया है, हमने सेवा की है. हमने काम में तीन चीज को कभी बर्दाश्त नहीं किया. सांप्रादायिक दंगा, भ्रष्टाचार और अपराध को हमने शुरू से दूर रखा है. हमने राज्य में प्रेम और भाईचारा का माहौल बनाने की कोशिश की.

सीएम ने कहा कि पहले के जमाने में काम होता था क्या? इतना अपराध होता कि पूछिए मत. उन्होंने कहा कि सीतामढ़ी की हालत को भी बताने की जरूरत है क्या? शाम होते ही लोगों के घर से बाहर निकलना दुशवार हो जाता था. पहले आए दिन अपहरण होता रहता था. लेकिन हमें जब से काम करने के मौका मिला तो हमने सबसे पहले अपराध पर नियंत्रण करना शुरू किया. आज देख लीजिए किसी को शाम के बाद घर से निकलने में डर लगता है क्या?



मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जब भी बाढ़ आता था तो सीतामढ़ी के देश से अलग बता दिया जाता था. लेकिन जब हम न्याय यात्रा पर निकले और इस क्षेत्र का दौरा किया और जब हमें काम करने का मौका मिला तो सबसे पहला काम सीतामढ़ी में पुल बनाने का किया.

बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अपराध पर नियंत्रण किया है. उन्होंने कहा कि हर साल केंद्र से रिपोर्ट जारी होता है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इतनी बड़ी आबादी होने के बाद बिहार 23वें स्थान पर है. उन्होंने कहा कि यूं तो समाज के हर आदमी को ठीक करना मुश्किल है. कुछ लोग पागलों वाली हरतक करते ही रहते हैं. लेकिन हमने अपराध पर लगाम लगाया है. वहीं सीएम ने कहा कि बिहार की प्रगति के लिए राज्य का विकास दर कितना बढ़ गया. उन्होंने कहा कि 2005-06 का बजट 24 हजार करोड़ रुपये का भी नहीं था. लेकिन अब 2 लाख 11 हजार करोड़ से भी ज्यादा का है. उन्होंने कहा कि तो हर चीज में विकास होता गया.