गोपालगंज के भोरे में बोले नीतीश कुमार, जंगलराज का खात्मा हुआ, अब कानून राज में हो रहा काम

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के सीएम नीतीश कुमार आज फिर से 4 जिलों के पांच विधानसभा क्षेत्रों में जनसंवाद करेंगे. सीएम का पहला कार्यक्रम गोपालगंज के भोरे विधानसभा क्षेत्र में है. जिसको लेकर सीएम भोरे विधानसभा पहुंचे. यहां उन्होंने जेडीयू प्रत्याशी सुनील कुमार के लिए वोट मांगा. साथ ही लोगों से उन्हें जीताने की अपील की. इस दौरान सीएम के साथ जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी समेत तमाम एनडीए के नेता मौजूद रहे.

सीएम ने कहा कि कोरोना का कहर एकबार फिर से बढ़ता जा रहा है. जिन जगहों पर मरीजों की संख्या कम हो गई थी, वहां फिर से बढ़ने लगी है. लेकिन भारत में इसकी रिकवरी रेट काफी अच्छा है. उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों की अपेक्षा बिहार में रिकवरी रेट भी अधिक है. नीतीश कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बाहर रह रहे लोग फंस गए थे. उन्हें काफी असुविधा हुई. लेकिन उसपर काम किया और बाहर से लोगों को ट्रेन शुरू कर उन्हें अपने प्रदेश बुलाया गया.



सीएम ने कहा कि जो भी लोग घर वापस आए, उनके लिए भी काम किया गया और जो भी लोग बाहर फंसे थे, उन्हें सहायता राशि भेजी गई. उन्होंने कहा कि हम लोग इस कोरोना काल में भी काम करते रहे. नीतीश कुमार ने कहा कि हमलेगों ने पहले ही कहा था कि आपलोग अगर काम करने का मौका देंगे तो न्याय के साख विकास करेंगे. मेरे हिसाब से न्याय के साथ विकास का मतलब हर इलाके का विकास करना है और हर तबके का विकास का करना है.

बिहार के मुखिया ने कहा कि बिहार में पहले अपराध कितना चरम पर था. जहां देखिए वहां गोलीबारी और लूटकांड होता था. अपहरण तो इस कदर होने लगा था कि लोगों ने घरों से निकला लगभग बंद कर दिया. उन्होंने कहा कि अब देख लीजिए और आप बताइए अब पहले वाली स्थिति है क्या? अब आप लोग खुद बताइए कि हमने काम किया कि नहीं?

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल पति-पत्नी को काम करने का मौका मिला. लेकिन किसी ने जनता की सेवा करना उचित नहीं समझा. उन्होंने कहा कि सभी को बस मेवा चाहिए था. पहले कौन सी घटना नहीं घटती थी. लेकिन हमने कहा था कि कानून का राज कायम करेंगे. अब देख लीजिए लॉ एंड ऑर्डर के अनुसार सारा काम हो रहा है. जंगल राज को खत्म कर कानून का राज कायम कर दिया.