पीएम नरेंद्र मोदी के साथ सीएम नीतीश कुमार की दिल्ली में बैठक शुरू, तेजस्वी यादव के साथ ही मांझी व मुकेश सहनी भी शामिल

लाइव सिटीज, पटना/ दिल्ली : पीएम नरेंद्र मोदी के साथ सीएम नीतीश कुमार की बैठक शुरू हो गई है. दिल्ली में जातीय जनगणना को लेकर आयोजित बैठक में सीएम नीतीश कुमार के साथ प्रतिनिधिमंडल में 10 दलों के नेता भी शिरकत कर रहे हैं. बैठक 11 बजे शुरू हुई है.

बैठक के बाद पता चल जाएगा कि जातीय जनगणना पर अंतिम फैसला क्या हुआ. पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार के राजनेताओं की मांग को कितना गंभीरता से लिया. यदि मांग पूरी नहीं हुई तो बाद में इस पर भी विचार होगा कि आगे की रणनीति अब क्या होगी. बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा जेडीयू से विजय चौधरी, आरजेडी से तेजस्वी यादव, बीजेपी से जनक राम, कांग्रेस से अजीत शर्मा, हम पार्टी से जीतनराम मांझी, वीआइपी पार्टी से मुकेश सहनी, सीपीआई माले से महबूब आलम के अलावा अपनी-अपनी पार्टियों से सूर्यकांत पासवान, अजय कुमार व अख्तरुल इमाम भी प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

दरअसल, जाति आधारित जनगणना को लेकर बिहार में सियासत तेज है. जातीय जनगणना कराने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बढ़ता जा रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी के साथ सीएम नीतीश कुमार की चल रही इस बैठक पर ​बिहार ही नहीं, बल्कि पूरे देश की निगाहें टिकी हुई हैं. अगले साल सात राज्यों में होने वाले चुनावों को देखते हुए जाति आधारित जनगणना की इस चर्चा को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. नीतीश कुमार पहले ही कह चुके हैं कि जातीय जनगणना देश व विकास के लिए जरूरी है.

उन्होंने यह भी कहा कि यह एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और हम लंबे समय से इसकी मांग कर रहे हैं. अगर यह हो जाता है, तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता. इसके अलावा, यह सिर्फ बिहार के लिए नहीं होगा, पूरे देश में लोगों को इससे फायदा होगा. इसे कम से कम एक बार किया जाना चाहिए. हम इस एंगल से पीएम के सामने अपने विचार रखेंगे. दूसरी ओर नेता प्रतिपप्रक्ष तेजस्वी यादव भी कह चुके हैं कि सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए जातीय जनगणना बहुत जरूरी है. इससे कोई तनाव नहीं होने वाला है.