कैबिनेट की बैठक में प्रधान सचिव पर भड़क गए सीएम नीतीश, मंगल पांडेय ने की थी शिकायत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: सीएम नीतीश की आज कैबिनेट की बैठक हुई. कैबिनेट में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई और सरकार ने 28 एजेंटों पर मोहर लगाई लेकिन बैठक ने सीएम नीतीश ने अपना अप्पा खो दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत पर भड़के हुए थे. कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री ने उदय सिंह कुमावत की जमकर क्लास लगा दी.

दरअसल स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कैबिनेट मीटिंग के दौरान ही अपने प्रधान सचिव की मुख्यमंत्री के सामने शिकायत कर दी. मंगल पांडेय ने कहा कि प्रधान सचिव उनकी बात सुनते ही नहीं हैं. वे सिर्फ मनमानी करते हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री हत्थे से उखड़ गए और स्वास्थ्य प्रधान सचिव को जमकर फटकार लगाई.



सीएम नीतीश ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को कड़े लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि RTPC टेस्ट 20 हज़ार प्रतिदिन नहीं हुआ तो कारवाई करेंगे. अगर आपसे विभाग नही संभालता तो छोड़िये विभाग को. सीएम ने कहा कि जब दिल्ली में रोज 38 हज़ार टेस्ट हो सकता है तो बिहार में क्यों नही? किसी भी हाल में मरीजों का जांच हो जो भी जांच कराना चाहे सबो की हो जाँच.

सीएम नीतीश ने कहा कि अनुमंडल स्तरीय हॉस्पिटल में 100 बेड की व्यवस्था हो. हर बेड पर ऑक्सीजन की भरपूर व्यवस्था होनी चाहिए. जिलों के मरीजों को उनके जिले में ही इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित कीजिए. सीएम ने कहा कि पिछले 14 साल में मेरे सामने ऐसे परिस्थिति नही आई.जल्द से जल्द जांच बढ़ायें नहीं तो कड़ी से कड़ी कारवाई के लिए तैयार रहिए.