देश मना रहा जयप्रकाश की 116 वीं जयंती, पटना में सीएम नीतीश और राज्यपाल ने किया याद

bihar politics, Sampurna kranti, jp, Loknatyak, Total revolution, Jai prakash narayan, Emergency, Nitish kumar, BJP, Patna City Bihar hindi news,

लाइव सिटीज डेस्क: आज लोकनायक जयप्रकाश नारायण की 116 वीं जयंती पर सारा देश उन्हें याद कर रहा है. पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मंत्री नंद किशोर राय, श्याम रजक समेत कई नेता आज आयकर गोलम्बर पर जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. राज्यपाल लालजी टंडन ने भी जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण कभी किसी पद पर नहीं रहे लेकिन इसके बावजूद देशसेवा का जो प्रण उन्होंने युवावस्था में लिया था उसे जीवन के आखिरी क्षण तक निभाया. उन्होंने देश की राजनीति को जो दिशा दी वह सदियों तक आने वाली पीढ़ियों का मार्गदर्शन करती रहेंगी.

जयप्रकाश की 116 वीं जयंती

11 अक्टूबर, 1902 को जन्मे जयप्रकाश नारायण भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे. वे समाज-सेवक थे, जिन्हें ‘लोकनायक’ के नाम से भी जाना जाता है. 1999 में उन्हें मरणोपरांत ‘भारत रत्न’से सम्मानित किया गया. इसके अतिरिक्त उन्हें समाजसेवा के लिए 1965 में मैगससे पुरस्कार प्रदान किया गया था. पटना के हवाई अड्डे का नाम उनके नाम पर रखा गया है. दिल्ली सरकार का सबसे बड़ा अस्पताल ‘लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल’भी उनके नाम पर है. लोकनायक जयप्रकाश जी की समस्त जीवन यात्रा संघर्ष तथा साधना से भरपूर रही.

बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल के लालू प्रसाद यादव, जनता दल यूनाइटेड के नीतीश कुमार और भारतीय जनता पार्टी के सुशील मोदी, ये तीनों जेपी आंदोलन में विद्यार्थी नेता के रूप में उभरे और बुलंद मुक़ाम हासिल किया. सुशील मोदी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से आए थे. आपातकाल के बाद वहीं लौट गए. लालू और नीतीश ने बिहार से होते हुए केंद्र की सियासत में भी अपना सिक्का जमाया. राम विलास पासवान जेपी आंदोलन में शामिल नहीं हुए लेकिन आपातकाल के विरोध में जेल जाने वालों में उनका भी नाम आता है.

यह भी पढ़ें- जेपी नारायण: आजादी के बाद भी रहा सत्ता से संघर्ष, एक आंदोलन से हिला दी थी इंदिरा सरकार

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*