लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना के पाटलिपुत्र यूनिवर्सिटी में अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया है. पीएचडी एडमिशन के लिए टेस्ट देने आए अभ्यर्थी केवल अंग्रेजी में प्रश्नपत्र देख कर भड़क गए और परीक्षा का बहिष्कार कर दिया. वहीं, विरोध देखते हुए यूनिवर्सिटी प्रशासन ने परीक्षा स्थगित कर दिया.

टेस्ट में केवल अंग्रेजी में ही क्वेश्चन पेपर दिया गया था. जिसे देखकर परीक्षार्थी भड़क गए. छात्रों ने इसका विरोध किया और देखते ही देखते पूरा कैंपस छात्रों से पट गया. इस दौरान यूनिवर्सिटी प्रशासन और छात्रों को बीच नोकझोंक भी हुई. अंतत: यूनिवर्सिटी ने छात्रों के उग्र विरोध को देखते हुए अगले आदेश तक परीक्षा स्थगित कर दी.

छात्रों ने यूनिवर्सिटी प्रशासन पर आरोप लगाया कि हिंदी मीडियम के छात्रों को परेशान करने के लिए जानबूझ कर केवल अंग्रेजी में प्रश्नपत्र दिया गया. यह हिंदी मीडियम के छात्रों के साथ नाइंसाफी है.

रिजल्ट के लिए बीपीएससी के बाहर धरना

बिहार लोकसेवा आयोग द्वारा ली गई असिस्टेंट इंजीनियर की परीक्षा के रिजल्ट की मांग को लेकर बीपीएससी मुख्यालय पर अभ्यर्थियों ने धरना दिया. फरवरी 2017 में ही 1284 पदों पर असैनिक सहायक अभियंता के लिए अधिसूचना जारी की गई थी लेकिन जनवरी 2020 तक बहाली की प्रक्रिया अधूरी है. सितम्बर 2018 में प्रीलिम्स की परीक्षा हुई और उसके बाद मुख्य परीक्षा मार्च 2019 में हुई.

इस दौरान प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कहा कि बिहार अभियंताओं की कमी से जूझ रहा है लेकिन सरकार बहाली प्रक्रिया जल्द पूरी नहीं कर रही है. राज्य में असिस्टेंट इंजीनियर के खाली पदों पर फ्रेश वैकेंसी भी निकालनी चाहिए, जिससे नए छात्रों को मौका मिल सके.

ये भी पढ़ें : पटना : मार्च में आठ दिनों तक लगातार बंद रहेंगे बैंक

ये भी पढ़ें: पटना में बनने जा रहे हैं तीन फाइव स्टार होटल, जानिए कहां- कहां होगा