कांग्रेस नेता अजीत शर्मा ने नीतीश कुमार को लिखा पत्र, कहा- कोरोना से मौत होने पर परिजनों को सप्ताह भर के अंदर मिले 4 लाख का मुआवजा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में कोरोना का कहर मानो थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 14836 नए मामले सामने आए हैं. इसी बीच बिहार कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने नीतीश कुमार को पत्र लिखा है. पत्र में कहा है कि  राज्य में रोजाना कोरोना से सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है. हालांकि, सरकारी आंकड़ा कुछ और बता रहा है. उन्होंने राज्य के सभी सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने, वेंटिलेटर की व्यवस्था को दुरुस्त करने और अस्पताल में व्यवस्था को सुधारने को लेकर भी मांग की.

कांग्रेस विधायक अजित शर्मा ने कहा कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे केवल बयानबाजी करते हैं. उनके अधिकारी धरातल पर काम नहीं कर पा रहे हैं. मुख्यमंत्री को अधिकारी सही जानकारी नहीं दे रहे हैं. यही वजह है कि अस्पताल में व्यवस्था दुरुस्त नहीं हो पा रही है. राज्य के मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव सहित कई आला अधिकारियों की मौत कोरोना के कारण हो गई है और उसका इलाज एक प्राइवेट हॉस्पीटल में किया गया. इससे सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी हॉस्पीटल में क्या व्यवस्था होगी

वहीं,उन्होंने कहा कि योजना एवं विकास विभाग के संकल्प संख्या 1483 द्वारा कोरोना वायरस रोकथाम से संबंधित खरीदी करने के लिए मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के मध्य से विधायकों की अनुशंसा पर होने वाले खर्च राशि में से दो करोड़ की राशि राज्य के सभी विधायकों से कटौती कर ली गई है. ये राज्य स्वास्थ्य विभाग में गठित कोरोना कोष में जमा किया जाएगा. ये अच्छी पहल है, लेकिन पिछला अनुभव ठीक नहीं है.