BIG BREAKING : गुजरात मामले को लेकर बिहार की सियासत से कांग्रेस ने की अल्पेश ठाकोर की छुट्टी!

अल्पेश ठाकोर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गुजरात में बिहार के लोगों के साथ मारपीट किये जाने का मामला अब पूरी तरह सियासी रूप ले चुका है. बिहार में भाजपा से लेकर जदयू व लोजपा ने कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर को निशाने पर लिया है. वहीं बिहार में कांग्रेस के प्रति माहौल खराब होते देख पार्टी ने अल्पेश ठाकोर पर बड़ा फैसला किया है. लाइव सिटीज की बिग ब्रेकिंग है कि कांग्रेस ने बिहार की सियासत से अल्पेश ठाकोर की छुट्टी करने का मन बना लिया है. पार्टी के अंदरूनी सूत्रों से जो खबर छन कर मिली है, उसके अनुसार अब पार्टी राजनीतिक कामों से अल्पेश ठाकोर को बिहार नहीं भेजेगी. हालांकि कांग्रेस उन पर कोई लिखित में कार्रवाई भी नहीं करेगी.

बता दें कि दो माह पहले कांग्रेस ने बिहार की सियासत में ओबीसी कार्ड भुनाने को लेकर गुजरात के नेता अल्पेश ठाकोर को बड़ी जिम्मेवारी सौंपी थी. उन्हें बिहार का सह सचिव बनाया गया था. अपने मनोनयन के बाद अल्पेश पिछले माह बिहार के दौरे पर आए भी थे. इसी बीच गुजरात के साबरकांठा में एक मासूम के साथ रेप का मामला सामने आया. फिर तो बवाल मच गया. रेप मामले में बिहार के रहनेवाले एक युवक पर आरोप लगा. इसके बाद सारे बिहारियों को वहां से खदेड़ने की बड़ी साजिश रची गई. एक अनुमान के अनुसार अब तक गुजरात से 50 हजार से अधिक बिहारियों को भगाया जा चुका है.

वहीं इस पूरे मामले में कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर निशाने पर आ गये हैं. बिहारियों को वहां से भगाने के मामले में अल्पेश को ‘विलेन’ माना जाने लगा है. खासकर बिहार में एनडीए घटक दल के तमाम नेता उन पर हमलावर हो गये हैं. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं. इसे कांग्रेस ने गंभीरता से लिया है. पार्टी के अंदरूनी सूत्रों से आ रही खबर के अनुसार बिहार की सियासत में अब कांग्रेस अल्पेश ठाकोर का इस्तेमाल नहीं करेगी. उन्हें बिहार नहीं भेजेगी.

गुजरात पहुंचे पप्पू यादव ने रूपाणी सरकार को घेरा, डीजीपी को बताया- चमचा

सूत्रों की मानें तो बिहार प्रदेश की नई कमेटी ने इस मामले में अल्पेश को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से अनुशंसा की है. कमेटी ने कहा है कि माहौल को देखते हुए अल्पेश के इस्तेमाल से बिहार कांग्रेस को नुकसान हो सकता है. ऐसे में अल्पेश को बिहार न भेजा जाए. बताया जाता है कि इस पर राहुल गांधी ने भी अपनी सहमति जता दी है और उन्हें बिहार नहीं भेजने का मन बना लिया है. हालांकि विरोधियों को इसका लाभ नहीं मिले, इसलिए कांग्रेस अल्पेश ठाकोर पर किसी तरह की लिखित कार्रवाई नहीं करेगी. इधर शुक्रवार को ही बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने भी बयान दिया है कि यदि अल्पेश दोषी होंगे तो पार्टी कार्रवाई करेगी.

RERA Approved वीआईपी रेजीडेंसी हो चला तैयार, अभी बुकिंग पर Alto Car फ्री

दूसरी ओर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर कांग्रेस ही नहीं, राजद भी हमलावर बना हुआ है. राजद व कांग्रेस नेताओं का कहना है कि सुशील मोदी किससे मांग कर रहे हैं. गुजरात में भी उन्हीं की पार्टी भाजपा की सरकार है. तो फिर अल्पेश ठाकोर को गिरफ्तार करने में गुजरात सीएम विजय रूपाणी देर क्यों कर रहे हैं. वे सुशील मोदी की मांग को पूरा क्यों नहीं करते हैं. वहीं सियासी चर्चा है कि गुजरात भाजपा जानती है कि यह सियासी आरोप है. यदि अल्पेश को गिरफ्तार कर लिया गया तो भले ही बिहार में बीजेपी हीरो बन जाए, लेकिन गुजरात में अल्पेश ही हीरो बन जाएंगे और यह कदम पार्टी के लिए घातक होगा.

इतना ही नहीं, गुजरात मामले को लेकर बिहार के मधेपुरा सांसद व जापलो के राष्ट्रीय संरक्षक पप्पू यादव भी गुजरात पहुंचे. उन्होंने भी माना कि गुजरात में बिहारियों के साथ काफी ज्यादती हुई है और यह बर्दाश्त से बाहर की चीज है. बिहारियों को भगाने में अल्पेश की ठाकोर सेना कठघरे में है. यही कारण है कि पप्पू यादव ने अपने अंतिम समय में अल्पेश ठाकोर से मुलाकात करने का प्लान चेंज कर दिया और उनसे बिना मिले ही वे लौट आए. बहरहाल, अल्पेश ठाकोर पर लगे आरोपों को देखते हुए कांग्रेस ने भी बिहार की राजनीति में उनसे बचने के लिए बीच का रास्ता निकाला है और बिहार में उन्हें नहीं भेजने का निर्णय लिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*