यूपी की सभी 80 सीटों पर अकेले लड़ेगी कांग्रेस, राजद को भी मिल सकता है एंट्री का मौका

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर सभी पार्टियो ने अपनी अपनी कमर कस ली है. इस चुनाव को लेकर पूरे देश में अलग—अलग पार्टियां दो ध्रुवों में बंट गईं हैं. एक ओर महागठबंधन है तो दूसरी ओर प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एनडीए है. लेकिन महागठबंधन का नेतृत्व कर रही कांग्रेस को देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश बड़ा झटका लगा है. ऐसे में कांग्रेस ने यूपी में सभी की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कही है. कांग्रेस की इस घोषणा के बाद लालू यादव की पार्टी राजद को यूपी में एंट्री करने का मौका मिल सकता है.

यूपी की सभी 80 सीटों पर अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

बता दें कि मायावती और अखिलेश यादव ने यूपी में अपनी पार्टी का गठबंधन किया है. दोनों ने ही यूपी की कुल 80 सीटों में से 78 सीटों पर खुद ही यानी 38-38 सीटों पर लड़ने का फैसला लिया है. वहीं कांग्रेस के लिए 2 ही सीटें छोड़ी हैं. ऐसे में कांग्रेस ने अखिलेश और मायावती से मिले झटके के बाद अब अकेले अपने दम पर उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है.

इस बारे में आज कांग्रेस की ओर से दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के महासचिव और यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी राज्य में सभी 80 सीटों पर पूरी ताकत के साथ लोकसभा का चुनाव लड़ेगी और चुनाव के चौंकाने वाले नतीजे होंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि देश में होने वाले चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच होगा. जिसे लेकर कांग्रेस ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. कांग्रेस की इस घोषणा के बाद देश की सबसे महत्वपूर्ण स्टेट में त्रिकोणिय चुनाव होने की स्थिति बन चुकी है.

हालांकि गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम उन दलों का समर्थन जरूर लेंगे जो हमारी मदद करेंगे. उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में हम उन तमाम दलों का सम्मान करते हैं जो इस लड़ाई में आगे बढ़ेंगे. बीजेपी और कांग्रेस के बीच सिद्धांतों की लड़ाई है. यह कोई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है. यह भारत को एक रखने की लड़ाई है.

यूपी में राजद के लिए मौका

यूपी में बुआ-बबुआ के साथ आने और कांग्रेस द्वारा सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का एलान करने की बात कहने के बाद राजद के लिए यूपी में चुनाव लड़ने का रास्ता भी साफ हो गया है. सपा—बसपा की ओर से दी गई दो सीटों पर जहां कांग्रेस ने चुनाव लड़ने के बजाए सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कही है तो हो सकता है कि ये सीट राजद को सपा और बसपा गठबंधन ऑफर कर दे.

आपको बता दें कि बिहार में लालू यादव पहले ही मायावती को बिहार में एक सीट देने की बात कही थी. ऐसे में जो दो सीटें यूपी में बच रही है उसपर राजद को मौका मिल सकता है. राजनीतिक चर्चाओं पर गौर करे तो तेजस्वी मायावती के जन्मदिन पर मिलकर उनसे इस बारे में बात कर सकते हैं. आपको बता दें कि आज ही तेजस्वी यादव लखनऊ के लिए रवाना हुए हैं. तेजस्वी दो दिनों तक लखनऊ में रहेंगे. कहा जा रहे है कि वे मायावती और अखिलेश से अलग-अलग बात करेंगे. वहीं उनके लखनऊ पहुंचने को लेकर सियासी हलचलें भी तेज हो गईं हैं.

आपको बता दें कि इससे पहले शनिवार को अखिलेश यादव और मायावती ने महागठबंधन का ऐलान करते हुए यूपी की 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। इसके अलावा रायबरेली और अमेठी की सीट पर महागठबंधन की ओर से कोई उम्मीदवार ना उतारने की बात कही गई थी. कांगेस द्वारा किए गए एलान को लेकर जो परिस्थिति बन रही है ऐसे में राजद को यूपी में इन दो सीटों का पर अपने उम्मीदवार उतारने का मौका मिल सकता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*