कौओं के मरने का सिलसिला जारी, पटना पुलिस लाइन में एक साथ 40 की मौत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में बर्ड फ्लू का वायरस लगातार अपने पांव पसारता जा रहा है. बिहार के कई जिले इसकी जद में आ चुके हैं. पहले मुंगेर उसके बाद पटना का चिड़या घर, फिर नावादा, नालंदा ओर मोतिहारी. इन सभी जिलों में इस महामारी के वायरस एच5एन1 ने तेजी से बिहार भर में अपने पांव पसारे हैं. इसी बीच एक ​बार फिर से राजधानी पटना से ऐसी हीं खबरें आ रहीं हैं. पुलिस लाइन में कई सारें कौओं की एक साथ मौत होने की खबर आ रही है.

बिहार की राजधानी पटना में के पुलिस लाइन से बड़ी खबर आई है. यहां के पुलिस लाइन में एक साथ 40 से ज्यादा कौओं के मरने की खबर आ रहीं है. इस घटना के बाद से यहां रह रहे पुलिस वालों में दहशत का माहौल है. आशंका जताई जा रही है कि कौओं के मौत का कारण बर्ड फ्लू  हो सकता है. वहीं आपको बता दें कि पटना सहित सूबे के कई इलाको में कौओं के लगातार मरने की घटनाएं सामने आ रही हैं.

बिहार के कई जिलों में पांव पसार चुका है बर्ड फ्लू

पटना में आज हुई 40 कौओं को मिलाकर बिहार में अब तक अलग-अलग जिलों में को मिलाकर देखें तो कुल 100 से ज्यादा कौओं की मौतहो चुकी है. मुजफ्फरपुर जिले के सकरा प्रखण्ड के चंदनपट्टी गांव में 12 कौए मृत पाए गए. पटना जिले के बिक्रम प्रखंड स्थित एक मुर्गी फार्म में लगभग 400 मुर्गियों के मृत पाए जाने के साथ जिले में करीब 10 कौओं की भी मौत हुई है.

बिहार के मुंगेर जिला में बर्ड फ्लू को देखते हुए 2609 मुर्गियों को नष्ट किए जाने के साथ इस जिले में करीब 45 कौओं की भी मौत हो गई है. मुंगेर जिला पशु पालन पदाधिकारी डॉ श्रवण कुमार भगत ने बताया कि 21 दिसंबर को जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद से अब तक 2609 मुर्गियों को नष्ट किया जा चुका है. उन्होंने बताया कि मुंगेर जिला के विभिन्न भागों में अब तक करीब 45 कौओं की मौत हो गई है.

बताते चलें कि पटना स्थित संजय गांधी जैविक उद्यान में बर्ड फ्लू के कारण मोर की मौत के बाद 25 दिसंबर से उसे बंद कर दिया गया है. संजय गांधी जैविक उद्यान में एच5एन1 वायरस के कारण छह मोर की मौत हो चुकी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*