पटना NMCH में कोरोना विस्फोट जारी, फिर 12 डॉक्टर मिल गए पॉजिटिव, अब तक 200 से अधिक संक्रमित

Group of modern doctors standing as a team with arms crossed in hospital office. Physicians ready to examine and help patients. Medical help, insurance in health care, best desease treatment and

लाइव सिटीज पटना: बिहार में कोरोना के केसेज तेजी से बढ़ रहे हैं. खासकर राजधानी पटना कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. तीसरी लहर में आम आदमी के साथ ही डॉक्टर भी बड़ी संख्या में पॉजिटिव हो रहे हैं. पटना NMCH में लगातार डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो रहे है. शनिवार को भी पटना NMCH में कोरोना विस्फोट जारी है.

पटना NMCH में एक बार फिर 12 डॉक्टर और 8 पारा मेडिकल स्टाफ पॉजिटिव पाए गए हैं. 89 डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों का टेस्ट हुआ था जिसमें ये मामला सामने आया है. बता दें कि पटना NMCH में अब तक 200 से अधिक डॉक्टर और मेडिकल स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. जिसको लेकार अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

बता दें कि बिहार में कोरोना की रफ़्तार बेकाबू होती जा रही है. दिन प्रतिदिन कोरोना के केसेज तेजी से बढ़ रहे हैं. बिहार के सियासी गलियारे में भी कोरोना संक्रमण तेजी से फ़ैल रहा है. पिछले 24 घंटे में में एक बार फिर कोरोना के केसेज तेजी से बढ़े हैं. बिहार में पिछले 24 घंटे में 3048 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. जिसमें सबसे ज्यादा राजधानी पटना में 1314 नए संक्रमित मिले हैं. 6 जनवरी 2022 तक बिहार में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 8489 हो गई है.

बिहार के कई मंत्री भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. शुक्रवार को कोरोना संक्रमित होने वाले शाहनवाज हुसैन नीतीश सरकार के 9वें मंत्री हैं. इससे पहले बिहार के दोनों डिप्टी सीएम तारकेश्वर प्रसाद और रेणु देवी समेत आठ मंत्री कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. जिसमें भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, मद्य निषेध विभाग के मंत्री सुनील कुमार, कृषि मंत्री अमरेन्द्र प्रताप सिंह, मंत्री जनक राम, संतोष कुमार सुमन और पशुपालन और मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी नाम शामिल है.