रामनवमी पर विशेष : कोरोना काल है, घर में ही रहकर करें भगवान श्रीराम की पूजा; और भी जानें खास बात

लाइव सिटीज, फीचर डेस्क : भगवान श्रीराम का कल बुधवार को जन्म दिन है. इस दिन भगवान श्रीराम के अलावा उनके परमभक्त बजरंगबली की पूजा होती है. इस दिन महावीर मंदिर में लोग पूजा करने को काफी तादाद में जुटते हैं. लेकिन इस बार कोरोना संकट के कारण मंदिरों के दरवाजे भक्तों के लिए बंद हैं.

चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि पर रामनवमी का पावन पर्व मनाया जाता है. इस पावन तिथि पर भगवान राम ने धरती पर अवतार लिया था. पूजा-पाठ किये जाते हैं. लेकिन, कभी-कभी पूजा के दौरान हम कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं, जिनके बारे में हमें खुद पता तक नहीं होता है. तो आज हम आपको बताते हैं कि रामनवमी के दिन क्या करें और क्या न करें.

ऐसा करनें से लाभ मिलता है

  • रामनवमी के दिन भगवान राम की पूजा करके उनकी मूर्ति को पालने में अवश्य झूलाना चाहिए.
  • इस दिन किसी पवित्र नदी, सरोवर या तालाब में अवश्य स्नान करना चाहिए. यदि आप गंगा नदीं में इस दिन स्नान करते हैं तो कई गुना शुभफल प्राप्त होगा. हालांकि, इस बार कोरोना संक्रमण है, इसलिए घर में ही स्नान कर पूजा करें.
  • रामनवमी के दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा भी की जाती है, इसलिए इस दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा अवश्य करें।
  • रामनवमी का दिन नवरात्रि का अंतिम दिन होता है, इसलिए इस दिन कन्या पूजन अवश्य करें.
  • इस दिन राम रक्षा स्तोत्र, रामायण, बजंरग बाण आदि का पाठ अवश्य करें. ऐसा करने से भगवान राम आपकी सदैव रक्षा करेंगे.
  • यदि संभव हो तो इस दिन अपने घर पर रामायण का पाठ अवश्य रखें.
  • रामनवमी के दिन राम मंदिर में जाकर रामायण बांटने से भगवान का आशीर्वाद मिलता है, लेकिन इस बार कोरोना संकट की वजह से मंदिर बंद हैं. ऐसे में अगली बार रामनवमी पर ऐसा करें.
  • इस दिन जानवरों की सेवा अवश्य करें और उन्हें अपने हाथों से कुछ खिलाएं. ऐसा करने से आपको रामनवमी व्रत के शुभफलों की प्राप्ति होगी.
  • रामनवमी के दिन किसी निर्धन व्यक्ति या ब्राह्मण को दान अवश्य दें. ऐसा करने से आपको भगवान राम की कृपा अवश्य ही प्राप्त होगी.

रामनवमी पर ऐसा न करें

  • रामनवमी के दिन भूलकर भी किसी को अपशब्द न बोलें और न ही किसी की निंदा करें.
  • इस दिन घर पर लहसुन और प्याज का प्रयोग भी बिल्कुल न करें.
  • रामनवमी पर कन्या पूजन किया जाता है, इसलिए इस दिन न तो किसी कन्या को सताएं और न ही उसे मारें. यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको भगवान श्रीराम के क्रोध का भागीदार बनना पड़ेगा.
  • इस दिन भूलकर भी घर में मांसाहार और शराब का प्रयोग बिल्कुल भी न करें.
  • रामनवमी के दिन किसी भी पशु को न तो तंग करें और न ही मारें. ऐसा करने पर जीवन में कई प्रकार की समस्याएं होती हैं.
  • इस दिन घर में किसी भी प्रकार का कलह न करें. अन्यथा आपके घर से सुख और समृद्धि चली जाएगी.
  • रामनवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा करना न भूलें, क्योंकि यह दिन नवरात्रि का अंतिम दिन होता है.
  • इस दिन भूलकर भी किसी देवी या देवता का अपमान न करें. ऐसा करने से आपको जीवन में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.
  • आपको इस दिन किसी भी प्रकार से भूलकर भी शारीरीक संबंध नहीं बनाने चाहिए. ऐसा करना वर्जित माना गया है.
  • रामनवमी के दिन किसी भी निर्धन व्यक्ति या ब्राह्मण का अपमान न करें, नहीं तो आपको प्रभु राम के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है.