पटना में लगातार दूसरे दिन भी सब्जी व फल विक्रेताओं एवं ऑटो चालकों का किया गया कोरोना टेस्ट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: प्रमंडलीय आयुक्त पटना संजय कुमार अग्रवाल की पहल पर पटना की सब्जी मंडियों में विशेष अभियान चलाकर सब्जी विक्रेता, फल विक्रेता एवं आटो चालकों के लिए कोरोना जांच का कार्य लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा. इसे व्यापक स्वरूप देते हुए सभी सब्जी मंडियों में अभियान के रूप में टेस्टिंग का कार्य चलाया गया ताकि छोटे व्यवसाय से जुड़े हुए गरीब व्यक्तियों को अपनी रोजी-रोटी छोड़ कर जांच केंद्रों पर नहीं जाना पड़े बल्कि उनके रोजगार स्थल पर ही जांच की सुगम व्यवस्था प्रदान की गई.

इसके तहत पटना के मीठापुर सब्जी मंडी सहित कई अन्य सब्जी मंडियों में सब्जी विक्रेता फल विक्रेता के कोरोना जांच की कार्रवाई की गई तथा उनका सहज एवं सरल तरीके से जांच किया गया। मीठापुर सब्जी मंडी में कुल 107 सब्जी विक्रेता, फल विक्रेता की जांच की गई जिसमें दो व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए. इस क्रम में पटना के आटो स्टैंड पर ऑटो चालक /ठेला चालक के लिए कोरोना के टेस्टिंग का अभियान चलाया गया. इसके तहत पटना मे 83 व्यक्तियों का टेस्ट किया गया जिसमें एक भी व्यक्ति पॉजिटिव नहीं पाये गये.



इसके लिए ऑटो संघ से समन्वय बनाकर टेस्टिंग का कार्य सुगम रूप से चलाया गया तथा रोजगार के दौरान ही उन्हें टेस्ट की सहज सुविधा प्रदान की गई. आयुक्त ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी को अपने-अपने क्षेत्रों की सब्जी मंडियों में सब्जी विक्रेता फल विक्रेता का टेस्टिंग कार्य में गति लाने तथा ऑटो चालक के साथ ही ठेला चालक आदि का भी कोरोना जांच कराने को कहा.

इस कार्य को सफल बनाने हेतु प्रमंडलीय आयुक्त पटना ने पूर्व में ही सभी जिलाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं तदनुसार दूसरे दिन भी विशेष अभियान के रूप में सभी जिलों में सब्जी मंडियों एवं ऑटो स्टैंड में कोरोना जांच का कार्य किया गया. प्रशासन का अनूठा एवं अनुपम उदाहरण के रूप में लघु रोजगार से जुड़े हुए गरीब व्यक्तियों को उनके कार्यस्थल पर ही टेस्टिंग की सुविधा प्रदान की गई है.

प्रतिदिन सब्जी मंडी में बड़ी संख्या में लोग जाते हैं तथा यदि वहां कोई संक्रमित व्यक्ति सब्जी बेचता है उसमें संक्रमण फैलाव की गुंजाइश सबसे ज्यादा होती है अतः यह विशेष अभियान चलाया गया है. ऑटो रिक्शा में भी कई बीमार व्यक्ति अस्पताल तथा दवा लेने आते जाते हैं और कई बार टेस्टिंग सेंटर पर संक्रमित व्यक्ति भी ऑटो से जाते हैं ऐसी परिस्थितियों में ऑटो चालक की सेहत को ध्यान में रखते हुए उनके टेस्टिंग का अभियान ऑटो स्टैंड पर चलाए गया और यह भी लगातार चलाया जाएगा.


इससे ऑटो चालक एवं उसमें बैठने वाली सवारिया खतरे से मुक्त रहेंगे और संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकेगा. प्रत्येक ऑटो चालक को भी एक प्रमाण पत्र दिया जाएगा जो अपने गाड़ी में रखेंगे इससे लोगों में विश्वास बढ़ेगा तथा ऐसे ऑटो चालक जिनके पास प्रमाण पत्र होगा उन गाड़ी में यात्री बैठना पसंद करेंगे. प्रत्येक सब्जी मंडी एवं फल मार्केट में बारी-बारी से अभियान चलाया जाएगा तथा प्रत्येक फल सब्जी विक्रेताओं को एक प्रमाण पत्र सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा ताकि वह अपनी दुकान पर रख सके.

आयुक्त ने बताया कि यदि कोई सब्जी विक्रेता या ऑटो चालक पॉजिटिव भी पाए जाते हैं तो उन्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है उनके लिए सरकारी आइसोलेशन की व्यवस्था की जाएगी और उन्हें सरकारी खर्चे पर तीनों टाइम का भोजन और रहने की सुविधा प्रशासन द्वारा उपलब्ध की जाएगी हमें करोना से डरने की जरूरत नहीं है बल्कि सभी की सहभागिता से मिलकर हराना है. प्रमंडलीय आयुक्त ने नालंदा, रोहतास, बक्सर, कैमूर तथा भोजपुर,पटना के डीएम को सब्जी मंडियों एवं ऑटो स्टैंड में सतत एवं प्रभावी रूप से कुरौना जांच कराने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया है.