कोरोना के टूटे पांव, राज्य स्तर पर कुल 920 नए संक्रमित, रिकवरी दर 98 फीसदी के पार

लाइव सिटीज, लाइव सिटीज: काफी राहत की खबर है. राज्य में कोरोना संक्रमण के पांव टूट चुके हैं. 24 घंटे के भीतर प्रदेश में नए मरीजों की संख्या में 87 लोगों की गिरावट आई. यानी एक दिन के भीतर राज्य स्तर पर कुल 920 नए संक्रमित मरीजों की पहचान की गई. जबकि शनिवार को यह संख्या 1007 थी. संक्रमण पर नियंत्रण की दिशा में सरकार की ओर से करीब एक लाख से अधिक लोगों का सैंपल जांच भी हर रोज किया जा रहा है. परिणाम, राज्य में कोरोना एक्टिव केसेज की संख्या धड़ाम के साथ आठ हजार 707 तक सिमट चुकी है. इसे स्वास्थ्य विभाग और राज्य सरकार काफी सुखद अनुभव के रूप में महसूस कर रही है. कारण कि कुछ दिन पहले जहां राज्य भर में हर दिन 13 हजार से भी अधिक नए मरीजों की पहचान की जा रही थी, वहां अब मरीजों की संख्या एक हजार से भी नीचे पहुंच गया है. हेल्थ डिपार्टमेंट का मानना है कि यह सारा करिश्मा प्रदेश में लगाए गए लॉकडाउन, टीकाकरण की वजह से देखने को मिला है.

विभाग बता रहा है कि इस बीच लोगों ने भी काफी सतर्कता और जागरुकता का परिचय दिया. नतीजा, सबके सामने है. दूसरी लहर में पांच मई को राज्य में पहली बार लॉकडाउन की घोषणा की गई. इसके परिणाम बेहतर दिखे. मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन अवधि में विस्तार किया. धीरे-धीरे यह 2 जून तक पहुंचा. इसी बीच राज्य में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में भारी गिरावट आई. अब जबकि संक्रमण रिकवरी रेट 98 फीसदी तक पहुंच चुका है, ऐसे में सरकार ने कुछ क्षेत्रों में छूट देनी शुरू कर दी है. लेकिन लॉकडाउन के नियमों का पालन अभी भी करवाया जा रहा है. इन सारी तैयारियों के बीच रविवार को प्रदेश में नए संक्रमितों की संख्या एक हजार से भी नीचे खिसक गई.

अगर राज्य के कुछ बड़े जिलों पर नजर डालें तो रविवार को राजधानी पटना में 87, मुजफ्फरपुर में 50, औरंगाबाद में 09, गया में 24, बेगूसराय में 34, जमुई में 08, जहानाबाद में 01, पूर्णिया में 48, नालंदा में 20, नवादा में 09, मुंगेर में 29, मधुबनी में 52, वैशाली में 23, शेखपुरा में मात्र 01, शिवहर में 08 संक्रमण के नए मरीज पाए गए. सरकार और स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि अभी तक राज्य में कुल एक करोड़ 10 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण भी किया जा चुका है.