पटना में ऑक्सीजन कालाबाजारी को लेकर क्राइम ब्रांच की कार्रवाई- 12 ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ 2 आरोपी अरेस्ट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच मेडिकल आक्सीजन की भी बड़ी किल्लत हो गई है. ऐसे में प्राणदायक वायु की कालाबाजारी करने वाले भी सक्रिय हो गए हैं. देश के साथ-साथ बिहार  में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है. लगातार हॉस्पिटलों से जहां खराब स्वास्थ्य सुविधाओं की खबर आ रही है, वहीं ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी के मामलों में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई है.

राजधानी पटना के पत्रकार नगर में आर्थिक अपराध इकाई के निर्देश पर पत्रकार नगर थाना की पुलिस ने मंगलवार को छापेमारी कर एक दर्जन से ज्यादा कालाबाजारी के लिए रखे गए ऑक्सीजन सिलेंडर को बरामद किया है. इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन दोनों से पूछताछ की जा रही है. इन दोनों के साथ कई और लोग भी जुड़े हैं. ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिलिंग कराकर रखते हैं और इसे बेचते हैं.

उधर, पटना के राजीव नगर में भी ऑक्सीजन गैस सिलेंडर रेगुलेटर की कालाबाजारी करते 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस मुख्यालय को इस बात की सूचना मिली थी कि राजीव नगर में एक बड़ा गिरोह ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर के रेगुलेटर की कई दिनों से कालाबाजारी कर रहा है. इसके बाद पुलिस हरकत में आई और छापेमारी कर चारों को गिरफ्तार कर लिया. उन चारों से पुलिस पूछताछ कर रही है.

आपको बता दें कि ऑक्सीजन और रेमडेसिविर जैसी दवाओं की कलाबाजारी के खिलाफ पुलिस भी एक्शन में आ गई है. आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने कालाबाजारी की सूचना पर कार्रवाई और जिला पुलिस से समन्वय के लिए अपने दफ्तर में एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया है. यह नियंत्रण कक्ष 24 घंटे काम करेगा. ईओयू ने नियंत्रण कक्ष के लिए मोबाइल नंबर- 8544428427 और लैंडलाइन नम्बर 0612- 2215142 भी जारी किया है. इसके साथ ही एडीजी एनएच खान ने सभी रेंज आईजी-डीआईजी और जिलों के एसपी को ऑक्सीजन और दवाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए कानूनी कार्रवाई को कहा है.