लोकआस्था का महापर्व छठ पूजा की नहाय खाय के साथ हुई शुरुआत, मुजफ्फरपुर में भी घाटों पर दिखा उत्साह

मुजफ्फरपुर (अभिषेक): बिहार में बड़े ही आस्था और विश्वास के साथ मनाए जाने वाला छठ पर्व बुधवार यानी आज से शुरू हो गया है. छठ पर्व न सिर्फ बिहार बल्कि अन्य राज्यों में आस्था के साथ मनाया जाता है. जिसमें सुहागिन महिलाएं या पुरूष 4 दिनों तक उपवास रखकर व्रत करती हैं. छठ पूजा की तैयारी दुर्गा पूजा के समाप्त होते ही प्रारंभ हो जाती है. छठ मैया के गीत अपने आप में एक अलग ही गीत है. जो छठ पूजा के नजदीक आते ही घरों से लेकर बाजारों तक सुनाई देने लगती है.

इसबार कोरोना को देखते हुए छठ पूजा के नजदीक आते ही जहां महिलाएं एवं पुरुष छठ पूजा की तैयारियों में लग गए हैं. वहीं, प्रशासन भी अपनी तैयारी को लेकर मुस्तैद दिखाई दे रही है. जिला प्रशासन छठ पूजा की विधि व्यवस्था को लेकर भी तैयार है. ताकि कहीं पर व्रत धारियों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो सके.



इस व्रत में 4 दिन तक व्रतियां छठ मैया की पूजा करती हैं जिसमें प्रथम दिन दिनभर व्रत रखने के बाद शाम को लौकी की सब्जी एवं नया चावल का भात खाती हैं. वहीं दूसरे दिन पूरे दिन उपवास रखने के बाद शाम के समय नए गुड़ एवं नये चावल की खीर बनाकर खाई जाती है. इस तरह से चलने वाला व्रत अपने आप में एक अनोखा व्रत है. छठ पूजा के प्रति लोगों का आस्था दिनप्रतिदिन बढ़ ही रहा है. जिले के कई घाटों पर छठ व्रती महिलाओं ने स्नान कर नहाय खाय की शुरुआत की.