‘का ले के शिव के मनाईब हो शिव मानत ना ही…’ गीत से बाबा को रिझा रहे हैं कांवरिया

लाइव सिटीज डेस्क : वैशाली के भगवानपुर में बाबा गरीबनाथ पर जल चढ़ाने के लिए पहलेजा धाम से मुजफ्फरपुर जा रहे कांवरियों के मनोरंजन और उत्साहवर्धन के लिए संगीत के शानदार कार्यक्रम के आयोजन का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा. नव गीतिका लोक रसदार और मंथन कला परिषद के कलाकारों द्वारा जहां शानदार भक्ति नृत्य एवं गीतों की प्रस्तुति की गई. वहीं उमेश कुमार सिंह ने भजन गाकर कांवरियों का भरपूर मनोरंजन किया.

नव गीतिका लोक रसधार की ओर से अरुण कुमार, मन कपूर, आशिका राय, अनिशा कुमारी और पम्मी कुमारी ने सावन महीनामा हम तो देवघर जाई झी ना, जय जय भैरवी और बोल बम का नारा इहे एक सहारा बा जैसे गीतों पर मनमोहक लोक नृत्य पेश किया गया.

बिहार की प्रसिद्ध गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने अनेक भजनों की प्रस्तुति करते हुए माहौल को भक्तिमय बनाया. गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने भक्ति जगा के मन में ओढ़ ल चुनरिया चला हो सखिया, गरीबनाथ के नगरिया चला हो सखियां, का ले के शिव के मनाईब हो शिव मानत ना ही, भोला के देखेला बेकल भईल जियरा, डिम डिम डमरु बजाबेला हमार जोगिया जैसे गीतों की प्रस्तुति कर कांवरिया भक्तों का भरपूर मनोरंजन किया.

गायक कुंदन तिवारी ने भी भोलेनाथ की महिमा का बखान करते हुए डमरु बजावे ला हमार भोले बाबा और नाचे ला कांवरिया शिव बाबा के नगरिया गीत पेश किए, जिस पर श्रोता झूमते रहे. कार्यक्रम में राजन कुमार ने तबला पर, भोला कुमार ने ढोलक पर, अनुज कुमार ने ऑटो पैड पर और राजन कुमार ने ऑर्गन पर संगत किया. कार्यक्रम की प्रस्तुति के दौरान सैकड़ों भक्तगण उपस्थित रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*