दीघा थानेदार की रोकी गई एक महीने की सैलरी तो एयरपोर्ट थानेदार का कटेगा 5 हजार रुपया

पटना/अमित जायसवाल : पटना के दो थानेदारों के खिलाफ कोर्ट ने बड़ा सख्त रूख अपनाया है. अलग—अलग केस में दो थानेदारों ने बड़ी लापरवाही बरती है. इस कारण इसका खामियाजा भी उन्हें अब भुगतना पड़ेगा. कोर्ट ने पटना एक थानेदार की एक महीने की सैलरी रोकने का ओदश पटना की एसएसपी गरिमा मलिक को दिया है. जबकि दूसरे थानेदार की सैलरी से 5 हजार रुपए काटने का आदेश दिया है. कोर्ट के दोनों ही आदेश का पालन पटना की एसएसपी को करना है.

नहीं किया आदेश का पालन
घरेलू हिंसा का एक मामला है. इस मामले में कांड संख्या 72/19 दीघा थाना में दर्ज है. इस मामले की सुनवाई पटना सिविल कोर्ट में ACJM सारिका भालिया के कोर्ट चल रही है. इस केस में कई बार दीघा थाना की पुलिस से डायरी मांगी गई. लेकिन पुलिस की तरफ से लगातार लापरवाही बरती गई. कोर्ट का आदेश नहीं मानने की वजह से दीघा थानेदार की एक महीने की सैलरी रोकने का आदेश ACJM की तरफ से जारी कर दिया गया.



बार-बार मांगने के बाद भी नहीं पहुंची डायरी
एयरपोर्ट थाना इलाके में कुछ महीने पहले एक हत्या हुई थी. जिसका कांड संख्या 224/19 एयरपोर्ट थाना में दर्ज है. इस केस में आरोपी प्रवीण कुमार सिन्हा ने ADJ-9 राजा राम संतोष के कोर्ट में बेल के लिए अप्लाई किया था. इस मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने 30 सितंबर को पहली बार केस डायरी मांगी थी. इसके बाद 17 अक्टूबर को कोर्ट ने एयरपोर्ट थाना की पुलिस को रिमाइंडर भेजा. 23 अक्टूबर को फिर से कोर्ट ने डायरी मांगी. जब गुरुवार को कोर्ट में केस डायरी नहीं पहुंची तो ADJ-9 ने कड़ा रूख अख्तिायर किया. पटना की एसएसपी को एयरपोर्ट थानेदार की सैलरी से 5 हजार रुपए काटने का आदेश दिया है. साथ ही 19 नवंबर को नई तारीख पड़ी और उस दिन फिर से केस की डायरी मांगी गई है.