कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए जिला प्रशासन एक्टिव, शाम सात बजे के बाद खुली हुई दुकानों को किया जाएगा सील- एसडीएम

लाइव सिटीज, कैमूर/ ब्रजेश दुबे: वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते प्रभाव की वजह से सरकार ने एक बार फिर नियमों में सख्ती की है. जिसके मुताबिक शाम सात बजे के बाद दुकानों को बंद करने का आदेश जारी किया गया है. कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए जिला प्रशासन एक्टिव मूड में आ चुका है. चौक चौराहों पर लगातार चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा है. लोगों से अपील है कि सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करें.सदर एसडीएम जन्मेजय शुक्ला ने कहा कि सरकार के कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत शाम सात बजे के बाद खुली हुई दुकानों को सील किया जाएगा. आदेश का उल्लंघन किए जाने पर दुकानदारों के विरुद्ध नियम संगत कार्रवाई की जाएगी.

शनिवार को शाम सात बजे के बाद दुकानों को बंद कराने के लिए सदर एसडीओ जन्मेजय शुक्ला, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सुनीता कुमारी, सदर थानाध्यक्ष रामानंद मंडल सहित काफी संख्या में पुलिस बल सड़कों पर उतरे. दुकानों को बंद कराने के लिए लगातार माईकिंग अपील की जा रही है. जिला प्रशासन की टीम के सड़क पर उतरने के बाद शाम सात बजे के बाद दुकानदारों में खलबली मच गई. जिसके बाद करीब आठ बजे तक भभुआ शहर में सभी दुकानों को बंद करा दिया गया. सदर एसडीएम जनमेजय शुक्ला ने कहा कि सरकारी आदेश का पालन कराने के लिए प्रशासन के लोग पूरी तरह से कटिबद्ध है.

गौरतलब है कि राज्य में कोरोन के बढ़ते मामले को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को पीसी की थी. इस दौरान उन्होंने एलान किया था कि कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए सूबे के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान को अगले 1 सप्ताह के लिए बंद रहेंगे.इसके साथ ही कोरोना को लेकर आम लोगों के मूवमेंट पर भी पांबन्दी लगाई गई है. सरकारी आदेश के अनुसार राज्य में 30 अप्रैल तक अब दुकानें शाम के 7:00 बजे तक ही खुलेंगे. वहीं, होटल-रेस्टोरेंट शाम के 7:00 बजे के बाद भी खुले रहेंगे. इसके अलावा सिनेमा हॉल में 50% लोगों को ही प्रवेश करने की अनुमति होगी. सभी धार्मिक स्थलों पर 30 अप्रैल आम लोगों के प्रवेश को वर्जित किया गया है.