चुनाव आयोग ने बदला जन अधिकार पार्टी का चुनाव चिन्ह, अब कैंची छाप पर चुनाव लड़ेगी जाप

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में पप्पू यादव की पार्टी जन अधिकार पार्टी (लो) को केन्द्रीय चुनाव आयोग से नया चुनाव चिन्ह मिला है. 2020 के बिहार विधान सभा चुनाव में जन अधिकार पार्टी( लो) का चुनाव चिन्ह कैंची होगा. जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने इस बात की जानकारी दी. पप्पू यादव ने बताया कि 2015 से चला आ रहा हाकी चुनाव चिन्ह अब आज की तारीख से खत्म हो गया. अब जाप पार्टी का नया चुनाव चिन्ह कैंची छाप है. पार्टी सभी 243 विधानसभा सीटों पर कैंची छाप चुनाव चिन्ह के साथ मैदान में अपने उम्मीदवार उतारेगी.


पप्पू यादव ने कैंची चुनाव चिन्ह मिलने पर ख़ुशी व्यक्त करते हुए कहा कि “ कैंची के सहारे बिहार की जनता भ्रष्ट्राचारियों और लुटेरों के पर कतरेगी. हमारा प्रयास होगा कि कैंची बिहार की जनता का अपना चुनाव चिन्ह हो. कैंची इस बार जनता के सामने एक विकल्प के रूप में होगी. आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत तय है. जाप के एक-एक कार्यकर्ता बिहार में बदलाव के वाहक बनेंगे. उन्होंने कहा कि नया चुनाव चिन्ह मिलने से लोंगों को हमे समझने में सहूलियत होगी. कैंची चुनाव चिन्ह मिलने पर जाप के सभी शीर्ष नेताओं ने ख़ुशी व्यक्त किया.




जाप के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचन्द सिंह ने बताया कि आज से पार्टी का चुनाव चिन्ह कैंची है. इस विधानसभा चुनाव में कैंची लोगों कि पहली पसंद बनेगी. जाप के राष्ट्रीय महासचिव एजाज अहमद ने ख़ुशी व्यक्त करते हुए कहा कि कैंची, प्रदेश के सभी शोषित और वंचित लोंगों का अपना चुनाव चिन्ह होगा. प्रदेश अध्यक्ष रघुपति सिंह, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा, राष्ट्रीय सचिव, हरे राम, प्रदेश उपाध्यक्ष, अवधेश लालू, राजू दानवीर, विनोद सिंह निषाद, प्रदेश महासचिव, अरुण कुमार सिंह एवं छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष विशाल कुमार सहित सभी ने कैंची चुनाव चिन्ह मिलने पर ख़ुशी व्यक्त की.