शिया वक्फ बोर्ड के सहयोग से ईवा फाउंडेशन ने चांद कॉलोनी झुग्गी बस्ती में खोला स्किल डेवलपमेंट सेंटर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : चांद कॉलोनी गयाघाट में शिया वक्फ बोर्ड के सहयोग से ईवा फाउंडेशन द्वारा समाज के वंचित एवं पिछड़े वर्गों के लिए स्किल डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना की गयी है. जिसका उदघाटन इरशाद आली आज़ाद, चेयरमान, बिहार राज्य शीया बोर्ड, पटना के द्वारा किया गया. वहीं इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में जगजीवन राम अनुसंधान संस्थान पटना के निदेशक श्रीकांत एवं खाद्य आयोग के अध्यक्ष विद्यानंद विकल मौजूद थे.

सेंटर का मुख्य उद्देश्य चांद कॉलोनी झुग्गी में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लड़कियों को कौशल आधारित प्रशिक्षण देकर उसे स्वलम्बी बनाने का कार्य करेगा एवं उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान कर परिवार की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने का काम करेगा. सेंटर की शुरुआत सिलाई प्रशिक्षण केंद्र के रूप में शुरू हो रहा है, जिसमें विशेष तौर पर लड़कियों और महिलाओं को मुफ्त में सिलाई का परीक्षण दिया जाएगा.



इस अवसर पर चेयरमैन इरशाद अली आज़ाद ने कहा कि हमारी सरकार और शिया वक़्क़ बोर्ड हमेशा से गरीब, दलित और अल्पसंख्यकों के उन्नति के लिए लगातार काम कर रही है. मैं ईवा फाउंडेशन के पूरी टीम को बधाई देना चाहूंगा कि उन्हीने मेरे आमंत्रण पर चांद कॉलोनी में महिलाओं के लिए स्किल डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना किया.

विद्यानंद विकल ने कहा कि मैं शिया वक़्क़ बोर्ड एवं ईवा फाउंडेशन को बधाई देना चाहूंगा और मेरी तरफ़ से जहां भी मदद की संभावना होगी मैं पूरी तरह सहयोग एवं विभिन जगहों पर अनुसंशा करूंगा. ईवा फाउंडेशन समाज के वंचित वर्ग बुनियादी अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए काम करता है, जिसमें खासकर अल्पसंख्यक और दलित समाज कि महिलाएं, युवा लड़कियां, बच्चे शामिल हैं. ईवा फाउंडेशन एक महिला लीड फाउंडेशन है, जो ट्रस्ट एक्ट, बिहार सरकार के तहत पंजीकृत है.

ईवा फाउंडेशन के एडवाईजरी बोर्ड चेयरमान सफदर अली ने कहा कि चांद कॉलोनी के ज़रूरत को देखते हुये यहां स्किल डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना की गयी है और इसके तहत कौशल विकास और व्यावसायिक प्रशिक्षण के माध्यम यहां पर रहने वाले परिवारों के सामाजिक-आर्थिक स्थितियों के उत्थान के लिए मददगार साबित होगा. इस मौके पर संस्था के एडवाईजरी बोर्ड सदस्य फ़ैयाज़ इकबाल, सामाजिक कार्यकर्ता शकील हाशमी, सेंटर कोर्डिनेटर मुरशिद आलम और नेहा परवीन मौजूद थे.