EXCLUSIVE PHOTOS : देखिए, कितने कुत्‍तों के बीच रांची के रिम्‍स में रखा गया है लालू यादव को

लालू यादव परेशान हैं रांची के रिम्स में कुत्तों के होनेवाले शोर से, देखें एक्सक्लूसिव फोटो

लाइव सिटीज (राजेश ठाकुर) : राजद सुप्रीमो लालू यादव परेशान हैं रांची के रिम्‍स में. कुत्‍ते इतने हैं कि उन्‍हें सोने नहीं देते. रात भर भौंकते ही रहते हैं. परेशानी अस्‍पताल प्रबंधन को सुनाई गई है, पर कोई सुन नहीं रहा. वार्ड ट्रांसफर नहीं किया जा रहा. इस बीच लाइव सिटीज को रांची के रिम्‍स से एक्‍सक्‍लूसिव तस्‍वीरें मिली हैं. ठीक वहां से, जहां लालू यादव रखे गए हैं. रात को ली गई तस्‍वीरें हैं. कुत्‍ते कितने हैं, गिन लीजिए. प्रत्‍यक्षदर्शी कहते हैं, रात को सौ-सौ कुत्‍ते जमा हो जाते हैं. फिर भौंकते ही रहते हैं.

रांची के एक सिटीजन जर्नलिस्‍ट ने लाइव सिटीज को एक्‍सक्‍लूसिव तस्‍वीरें भेजते हुए बताया कि लालू यादव को रिम्‍स के मेन बिल्डिंग में नहीं रखा गया है. पीछे की ओर दूसरी बिल्डिंग है. इसे सुपर स्‍पेशिएलिटी भी कहते हैं. इधर ही मेडिकल छात्रों का हॉस्‍टल भी है. रात को कुत्‍ते इधर दुनिया बसा लते हैं. भारी संख्‍या में जमा होते हैं. ऐसा नहीं कि लालू यादव के आने के बाद जमा होने शुरु हुए हैं, बहुत पहले से यहां रात का ठहराव बनाए हैं.

लालू यादव दूसरे तल्‍ले पर हैं. जिस दिशा में खिड़की खुलती है, ठीक उसके नीचे ही कुत्‍तों का जमावड़ा होता है. खिड़की खोलिए, न खोलिए, कुत्‍तों के भौंकने की तेज आवाज आएगी ही. आसपास के लोग बताते हैं कि रात को इधर आने का मतलब रिस्‍की होता है. कुत्‍ते पीछे लग ही जाते हैं. जब से लालू यादव ने कुत्‍तों के भौंकने के कारण नींद में खलल की बात उठानी शुरु की है, तब से वहां भर्ती दूसरे मरीज भी खुश हैं. कारण कि कुत्‍तों का भौंकना उन्‍हें भी परेशान करता रहा है.

देखें एक्सक्लूसिव फोटो, रांची रिम्म के इसी भवन में लालू यादव का चल रहा है इलाज और पीछे कुत्तों का लगा है जमावड़ा.

बताया जा रहा है कि लालू यादव की शिकायतों को देखते हुए रिम्‍स प्रबंधन ने कुत्‍तों को भगाने के लिए गार्ड रखा है. पर, यह गार्ड भी रात को कुत्‍तों को भगा नहीं पाता. कुत्‍ते इतने परेशान करते हैं कि गार्ड ही दुम दबा लेता है. कुत्‍तों की भौंक ने लालू यादव को किसी रात भी ठीक से पूरी नींद नहीं लेने दिया है. इस कारण उनकी बीमारी और भी बढ़ती जा रही है. डायबिटीज की बीमारी में डॉक्‍टर ठीक से नींद लेने की सलाह देते हैं.

यह रिम्स के बाहर का फोटो है, जहां रात होते ही शुरू हो जाता है कुत्तों के भौंकने का शोर.

कुत्‍तों से परेशान लालू यादव पेइंग वार्ड में ट्रांसफर होना चाहते हैं. मतलब वह वार्ड, जहां रहने के लिए पैसे देने पड़े. यहां साफ-सफाई और सुविधाएं कुछ अधिक होती है. भुगतान को लालू यादव तैयार हैं. पर, रिम्‍स मैनेजमेंट ने अब तक लालू यादव की रिक्‍वेस्‍ट पर कोई निर्णय नहीं लिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*