अस्पताल में डॉक्टर की जगह तंत्र-मंत्र से मरीज का इलाज करती नजर आई महिला तांत्रिक, सोशल मीडिया पर वीडियो जारी होते ही अफसरों में हड़कंप

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संक्रमण में देश से लेकर राज्य तक हड़कंप मचा हुआ है. संक्रमित लोगों के लिए अस्पतालों में उचित बेड, इंजेक्शन, दवा, ऑक्सीजन आदि की सुविधा नसीब नहीं हो पा रही है. मरीजों की भीड़ अधिक होने की वजह से अस्पतालों के कर्मचारियों ने भी अपने हाथ खड़े करने शुरू कर दिए हैं. उचित इलाज अभाव में अभी तक हजारों लोगों ने असमय दम तोड़ दिया. ऐसे में सहरसा जिले में सदर अस्पताल में इलाज के लिए आए मरीज की डॉक्टरों ने नहीं एक महिला तांत्रिक ने उपचार किया.

अंधविश्वास से ओतप्रोत इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. बताया जा रहा है कि परिजनों ने युवक को सांप डंसने की आशंका के बाद सहरसा सदर अस्पताल में भर्ती कराया था. जब डॉक्टरों के उपचार से युवक की हालत में खास सुधार नहीं दिखा तो परिजनों ने मैंसी प्रखंड के मैना गांव से महिला तांत्रिक को बुलवा भेजा. महिला तांत्रिक अस्पताल परिसर में ही युवक की झाड़-फूंक करने लगी. जो मौके पर मौजूद लोगों के लिए काफी आश्चर्य का विषय बन गया.

जब युवक के परिजनों से पूछा गया तो उनका जवाब था कि हालत में सुधार नहीं होते देख उन्होंने तांत्रिक का सहारा लिया. उन्हें विश्वास था कि इस तंत्र-मंत्र से युवक की जान बच जाएगी. फिलहाल, इस झाड़-फूंक के खेल में युवक की जान बचती है या नहीं, यह तो बाद का विषय है. लेकिन अस्पताल परिसर में उपस्थित लोग युवक की सुरक्षा में बरती जा रही इस लापरवाही को लेकर काफी चिंतित नजर आए.