फिल्म डिस्ट्रीब्यूटरशिप में फ्रॉडगिरी का मामला, रमेश व्यास को पटना पुलिस ने किया अरेस्ट

CRIME-NEWS
CRIME-NEWS

लाइव सिटीज, पटना : राजधानी के गांधी मैदान थाने की पुलिस ने फ्रॉडगिरी के मामले में बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने मुंबई के लक्ष्मी गणपति फिल्म्स के प्रोपराइटर रमेश व्यास, ओम व्यास उर्फ रमेश व्यास को गिरफ्तार किया है. गांधी मैदान थाने की पुलिस ने इन्हें पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है. उन्होंने 35 लाख रुपए का फर्जी चेक काटा था, जो बाउंस कर गया था. इस मामले में गांधी मैदान थाने में पहले से यह केस दर्ज है.

दरअसल यह पूरा मामला फिल्म के डिस्ट्रीब्यूटरशिप को लेकर है. पटना के रहने वाले डॉक्टर सुनील कुमार ‘विजय लक्ष्मी मूवीज प्राइवेट लिमिटेड’ के नाम से कंपनी चलाते हैं. यह डिस्ट्रीब्यूटर हैं. इन्होंने तीन फिल्मों की डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए मुंबई के रमेश व्यास से बात की थी. डिस्ट्रीब्यूटरशिप 41 लाख रुपए का था. इस संबंध में 5 अक्टूबर 2017 को दोनों पार्टी के बीच कॉन्ट्रैक्ट भी बना था. इसमें फिल्म मुकद्दर, काशी अमरनाथ और एक तीसरी फिल्म है, जिसके बिहार झारखंड के डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए बात हुई थी.

गिरफ्त में आरोपी

रमेश व्यास को कई बार पैसा लौटाने के लिए नोटिस भेजा गया था. सेटेलमेंट के लिए बातें भी हुई थी. लेकिन बकाया 35 लाख रुपया वह वापस नहीं कर रहा था. मामले को सुलझाने के लिए रमेश व्यास ने आईसीआईसीआई बैंक के 10-10 लाख रुपए का 3 चेक भी दिया था, जो बाउंस कर गया. उसके बाद ही गांधी मैदान थाने में एफआइआर दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद कार्रवाई करते हुए पटना पुलिस ने रमेश व्यास को गिरफ्तार कर लिया है.

रमेश व्यास का लक्ष्मी गणपति फिल्म्स के नाम से कंपनी है जो मुंबई मुंबई के अंधेरी में हीरा पन्ना मॉल के बगल में स्थित है. आरोप यह भी है कि रमेश व्यास ने पैसे ठगने के लिए डिस्ट्रीब्यूटरशिप का मालिकाना हक दूसरे से बेच दिया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*