हाथरस कांड: सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ मुजफ्फरपुर में केस दर्ज, 8 को होगी सुनवाई

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: यूपी के हाथरस में नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना ने पूरे देश को शर्मसार कर दिया है. देश की जनता सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारेबाजी कर रही है. इसका सीधा असर बिहार में देखने में भी देखने को मिल रहा है. सूबे के मुजफ्फरपुर में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ परिवाद दर्ज कराया गया है.

मुजफ्फरपुर के मिठनापुर के निवासी और सामाजिक कार्यकर्ता राजू नैयर ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पूर्वी की अदालत में सीएम आदित्यनाथ के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. जानकारी के मुताबिक यूपी के सीएम पर धारा 302, 135-ए, 295-ए सहित कई अन्य मामले दर्ज हैं. कोर्ट ने मामले की सुनवाई की तारीख 8 अक्टूबर मुकर्रर की है.



परिवाद दायरकर्ता राजू नैयर ने कहा कि यूपी के हाथरस में जो घटना घटी वो निंदनीय है. सीएम योगी को सख्त एक्शन लेना चाहिए था. लेकिन वे उदासीन रवैयेे में हैं. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार और प्रशासन का ये फर्ज था कि मासूम की शव को परिजनों के हवाले कर देना चाहिए था. लेकिन आधी रात को शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

राजू नैयर ने आक्रोश में कहा कि यूपी की सरकार ने सरासर गलत किया है. बच्ची के परिजन शव का हिन्दू रीति रिवाज के साथ शव का दाह संस्कार कर चाहते थे. लेकिन रात के अंधेरं में शव को जला देना, ये कहां का न्याह है? बता दें कि यूपी के हाथरस में कुछ दरिंदों ने नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है. इसके बाद अपराधियों ने बच्ची के साथ बर्बरता भी दिखाई. दरिंदों ने बच्ची के साथ बुरी तरह से मारपीट भी की. जिसके बाद नाबालिग की इलाज के दौरान मौत हो गई.