पटना में ‘उत्सव’ के घर मातम, नए साल पर घूमने निकले बेटे की रेल लाइन किनारे मिली लाश

पटना : नए साल की शुरुआत पटना के एक फैमिली पर कहर बनकर टूटा है. उनका लाडला अब कभी भी उनके पास वापस नहीं आएगा. निकला तो था वो बाजार घूमने के लिए, कुछ देर में ही वापस लौटने की बात कह कर. वो खुद घर नहीं आया, बल्कि उसकी डेड बॉडी को लाया गया. अब पूरे फैमिली में कोहराम मचा है.

दरअसल, ये पूरा मामला कंकड़बाग में चित्रगुप्त नगर का है. जहां बिजनेसमैन आदित्य अपनी फैमिली के साथ रहते हैं. बात नए साल के पहले दिन एक जनवरी की है. 8वीं क्लास का स्टूडेंट इनका 15 साल का बेटा उत्सव अपने घर से सुबह साढ़े 10 बजे के करीब निकला था. उसने कुछ ही देर में बाजार से घूम कर वापस घर आने की बात कही थी. उत्सव को घर से निकले हुए करीब डेढ़ घंटे से अधिक बीत गए थे.

दोपहर 12 बजकर 5 मिनट पर पिता और बहन ने कॉल कर उससे बात की. उस वक्त उत्सव ने 10 मिनट में घर वापस आने की बात कह कॉल काट दिया. उसके बोले हुए 10 मिनट से अधिक बीत चु​के थे. पिता और बहन सहित पूरी फैमिली टेंशन में थी. इसलिए ठीक 22 मिनट बाद यानी दोपहर 12 बजकर 27 मिनट पर पिता ने फिर से अपने बेटे के मोबाइल पर कॉल किया. लेकिन उस वक्त उत्सव ने कॉल रिसिव नहीं किया.

utsav
उत्सव की फाइल फोटो
तीसरे कॉल में उड़ गए होश

जैसे—जैसे समय बीतता जा रहा था, वैसे—वैसे फैमिली वालों की बेचैनी भी बढ़ती ही जा रही थी. ​फैमिली वालों ने दोपहर 1 बजकर 25 मिनट पर तीसरा कॉल उत्सव के मोबाइल पर किया. ये कॉल रिसिव भी हुआ, लेकिन बात करने वाला शख्स उत्सव नहीं था. बल्कि कोई और था. कॉल रिसिव कर बात कर रहे शख्स ने फैमिली वालों को जो जानकारी दी, उसके बाद सभी के होश उड़ गए. बात कर रहे शख्स ने बताया कि एक लड़के की बॉडी अगमकुआं में शीतला मंदिर से वेस्ट साइड रेलवे ट्रैक के पास पड़ी हुई है. यहीं पर मोबाइल भी फेंका हुआ था.

हॉस्पिटल में हुई मौत की पुष्टि

मामले की जानकारी मिलते ही आदित्य और फैमिली के दूसरे लोग चंद मिनटों में ही अगमकुआं पहुंच गए. रेलवे ट्रैक के पास उत्सव की बॉडी क्षत—विक्षत हालत में पड़ी हुई थी. एक पल के लिए फैमिली वालों को लगा कि शायद उत्सव की सांसे बची हों. इसलिए उसे पास के एक हॉस्पिटल में ले गए. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. डॉक्टर ने उसके मौत की पुष्टि कर दी.

सिर पर मिले हथियार के वार के निशान

उत्सव की हत्या की गई है. इस बात के सबूत उसके सिर पर मिले धारदार हथियार से वार किए गए 4—5 निशान हैं. 15 साल के उत्सव की हत्या कब और किसने की? इस बात का पता नहीं चल सका है. फैमिली वालों के बयान पर पटना जंक्शन रेल थाने में उसकी हत्या का एफआईआर दर्ज किया गया है. थानेदार प्रमोद कुमार के अनुसार अब तक जांच में ये पता चला है कि उत्सव किसी लड़की से अक्सर बात करता था. हत्या के पीछे अफेयर का भी कारण हो सकता है. फिलहाल पूरे मामले की जांच चल रही है. उसके कॉल डिटेल और टावर लोकेशन को पुलिस टीम खंगाल रही है.

अब देख लीजिए मंत्री सुरेश शर्मा की FIR , आप भी जान जायेंगे- बुड़बके हैं मंत्री जी
देख लीजिए Video : गुंडागर्दी, पिटाई, और भी सब कुछ सामने हैं मंत्री सुरेश शर्मा मामले का

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*