लाइव सिटीज डेस्क : नरेंद्र मोदी सरकार की एक और कैबिनेट मंत्री ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है. बता दें कि लाइव सिटीज ने सबसे पहले न्यूज ब्रेक किया था कि केंद्रीय मंत्रीरामविलास पासवान 2019 में होनेवाले लोकसभा चुनाव में खड़ा नहीं होंगे. इसके बाद केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बारे में खबर आयी कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगी. अब केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कुछ ऐसा ही बड़ा निर्णय लिया है.

मंगलवार को केंद्रीय मंत्री साध्वी उमा भारती भोपाल में थीं. उन्होंने कहा कि 2019 में होनेवाले लोकसभा चुनाव मैं नहीं लड़ूंगी. उमा भारती ने कहा कि वे अब सिर्फ भगवान राम और गंगा के लिए काम करेंगी. 15 जनवरी से वे गंगा की पदयात्रा शुरू करेंगी. हालांकि उन्होंने कहा कि भले ही मैं चुनाव नहीं लड़ूंगी, लेकिन पार्टी के लिए प्रचार करती रहूंगी.

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि ‘मैं मरते दम तक राजनीति करूंगी, लेकिन डेढ़ साल भगवान राम और गंगा के लिए काम करूंगी. उन्होंने कहा कि 15 जनवरी से मैं गंगा प्रवास करूंगी. इसके लिए मैं पार्टी से अनुमति भी ले लूंगी. इसके बाद डेढ़ साल तक गंगा और राम मंदिर पर फोकस करना चाहती हूं. इसी वजह से मैंने फैसला किया है कि इस बार लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ूंगी.

गौरतलब है कि बिहार के हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़नेवाले रामविलास पासवान 2019 के चुनाव में खड़ा नहीं होंगे. उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला अपने गिरते हेल्थ के कारण ही लिया है. वे भी समय-समय पर डॉक्टरों से चेकअप कराते रहते हैं. पिछले दिनों उन्होंने बिहार दौरे के क्रम में पटना एम्स में भी अपना चेकअप कराया था. इस खबर को लाइव सिटीज ने ही ब्रेक किया था. बाद में बेटे चिराग पासवान ने कहा था कि पापा राज्यसभा जाएंगे.