सारण : एसएच-90 पर चढ़ा बाढ़ का पानी, आवागमन बाधित

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में बाढ़ तबाही मचा रही है. सारण जिले के मशरक-महम्मदपुर एसएच-90 पर मंगलवार की रात्रि से ही बाढ़ का पानी चढ़ रहा है. सड़क पर बाढ़ के पानी चढ़ने से आवागमन पूरी तरह ठप्प हो गया है. वहीं, रेलवे ओवरब्रिज निर्माण के लिए वंहा बड़े-बड़े गड्ढे खोद दिये गये हैं, जिससे पैदल पानी पार करने वालों को लिए खतरा है. कभी भी जिंदगी मौत मे बदल जाएगी.

सड़कों पर तेज पानी से आवागमन पुरी तरह से बन्द हो चुका है. पानी मुख्य सड़क पर चढ़ता देख मशरक थाना क्षेत्र के पास ही थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने अस्थायी बेरियर लगा कर बड़े मालवाहक वाहनों से लेकर छोटे कारों तक की आवाजाही पर रोक लगा दी है.



बताते चलें की गोपालगंज के तरफ जाने-आने का एक मात्र सड़क अब बाढ़ की भेंट चढ़ गया है. यह सड़क तीन जिलों को जोड़ता है, जिस कारण आपातकालीन सेवा संकट में हैं. लोगों ने बताया कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों इसी रास्ते से प्रतिदिन बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं, पर कोई भी इस पर ध्यान नहीं दे रहा है. स्थानीय लोगों ने जिलाधिकारी सारण से सड़क की अविलंब मरम्मत की मांग की है.

बता दें कि बिहार में इस समय बाढ़ से सैकड़ों गांव प्रभावित हैं. खासकर उत्तर बिहार, सीमांचल, मिथिलांचल और गंडक नदी के आस-पास के जिले सबसे अधिक बाढ़ की मार झेल रहे हैं. गोपालगंज में गंडक नदी पर बने बांध के टूटने से गोपालगंज और सारण जिले के कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए. इन इलाकों के लोगों का जिना मुहाल हो गया है.