अब 15 को होगी शहाबुद्दीन के जेल ट्रांसफर पर सुनवाई

लाइव सिटीज डेस्क : पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड और चर्चित तेजाब कांड समेत दो दर्जन संगीन अपराधों के आरोपी राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन को सिवान जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल शिफ्ट करने के मामले पर गुरूवार को सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई हुई. अब  शहाबुद्दीन के जेल और केस ट्रांसफर मामले पर 15 दिसंबर को सुनवाई होगी. इधर याचिकाकर्ता ने शहाबुद्दीन के विभिन्न मामलों की सुनवाई बिहार के बजाय दिल्ली में करवाने की मांग की है.

वहीं इससे पहले शहाबुद्दीन के वकील की ओर से अपना पक्ष रखने के बाद बुधवार को कोर्ट ने सीबीआई का पक्ष सुना और उम्मीद जतायी जा रही थी कि आज इस मामले पर फैसला सुनाया जा सकता है. अब सुनवाई 15 दिसंबर तक टल गयी. सबको बेसब्री से इंतजार है कि शहाबुद्दीन अब बिहार के जेल में रहेंगे या तिहाड़ जेल में शिफ्ट किए जाएंगे?

इस संबंध में दायर याचिकाओं पर पिछले हफ्ते से लगातार सुनवाई चल रही है और कोर्ट इस मामले के सभी बिंदुओं पर गौर करते हुए ही फैसला देगा. इसीलिए इस फैसले में विलंब हो रहा है. बता दें कि तमाम दलीलों के साथ शहाबुद्दीन के वकील ने मंगलवार को अपनी बहस पूरी कर ली और अब आज कोर्ट के समक्ष सीबीआइ ने अपना पक्ष रखा.

इसे भी पढ़ें :
शहाबुद्दीन मामले में अगली सुनवाई 6 दिसंबर को
शहाबुद्दीन को तिहाड़ भेज दें, कोई आपत्ति नहीं

आपको बता दें कि 24 अक्टूबर 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने सिवान के व्यवसायी चंदा बाबू और पत्रकार राजदेव रंजन आशा रंजन की याचिकाओं की सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार, बिहार सरकार और खुद शहाबुद्दीन को नोटिस देकर पूछा था कि आरोपी को आखिर तिहाड़ जेल में क्यों न शिफ्ट कर दिया जाए.

shahabuddin-supreme-courtसाथ ही मृतक पत्रकार की पत्नी आशा रंजन ने कोर्ट से मांग की थी कि शहाबुद्दीन के सिवान में रहने से जान का खतरा है और यह डर भी है कि कहीं केस प्रभावित न हो जाए. अतएव शहाबुद्दीन को किसी बाहर की जेल में शिफ्ट किया जाए. शहाबुद्दीन सिवान में रहेंगे तो हमेशा डर बना रहेगा कि वे कहीं साक्ष्यों को प्रभावित न कर दें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*