नीतीश के पहुंचते ही राजद ने कहा- कभी नहीं थी पार्टी नोटबंदी के खिलाफ

पटना : आरजेडी विधायक दल और बिहार के सीएम नीतीश कुमार के मुलाकात के बाद यह साफ़ कर दिया गया कि गठबंधन के बीच सब ठीक है. लालू और नीतीश दोनों नोटबंदी  के पक्षधर हैं. आरजेडी का विरोध सिर्फ बिना तैयारी के नोटबंदी को लागू करने को लेकर रहा है.



आरजेडी विधायक दल की बैठक में सबसे खास रहा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का शामिल होना.  उनके पहुंचते ही आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने उठकर उनका स्वागत किया.

हांलाकि महागठबंधन की संयुक्त बैठक को नीतीश कई बार संबोधित कर चुके थे, लेकिन इस बैठक में उनका शामिल होना काफी महत्वपूर्ण रहा. क्योंकि पिछले कई दिनों से जो उनको लेकर भ्रांतियां फैलाई जा रही थी उसे उन्हें विधायकों से मिल कर दूर करना था.lalu-nitish-123बैठक के बाद आरजेडी सुप्रीमो का भी सुर बदल गया है. लालू और उनकी पार्टी ने साफ़ किया कि उन्होंने कभी भी नोट बंदी को गलत नहीं कहा. नोटबंदी जिस तरह से लागू किया गया उसके बाद के उपजे हालात को लेकर आरजेडी ने विरोध किया था.  आरजेडी प्रवक्ता अनवर आलम ने कहा कि लालू और नीतीश दोनों नोटबंदी के पक्षधर हैं. लेकिन इसका इम्प्लीमेंटेशन बहुत ख़राब रहा. जिसको लेकर आरजेडी ने आक्रोश जताया था.

यह भी पढ़ें- नित्यानंद राय बने बिहार बीजेपी के नए प्रेसिडेंट
दिल्ली बीजेपी के नए अध्यक्ष बने मनोज तिवारी

इससे पहले सोमवार को जनता दल यू के विधायक दल की बैठक में उन्होंने कहा कि उनकी राजनैतिक हत्या की साजिश की जा रही है. बीजेपी को लेकर तरह तरह की भ्रांतियां फैलाई जा रही है. आरजेडी की बैठक में आकर उन्होंने अपना स्टैण्ड साफ किया कि महागठबंधन एक है और एक जुट रहना है. बीजेपी उन्हें तोडने की भरपूर कोशिश करेगी लेकिन टूटना नही है.