फर्जीवाड़ा : शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव समेत छह अधिकारियों पर F.I.R

लाइवसिटीज डेस्क /मुजफ्फरपुरः  फर्जी टीईटी शिक्षकों के नियोजन व गलत तरीके से 10 करोड़ से अधिक के वेतन मद में भुगतान के मामले में मुजफ्फरपुर के सीजेएम कोर्ट के आदेश पर शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आर. के. महाजन के अलावा डीईओ एसएन कंठ, पूर्व डीपीओ वीणा पांडेय, मीनापुर के बीईओ राजेश कुमार व बंदरा प्रखंड के बीईओ रामविनोद झा समेत शिक्षा विभाग के छह अधिकारियों के खिलाफ नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है.whatsapp-image-2016-11-30-at-13-24-33

अधिवक्ता पंकज कुमार की शिकायत पर सुनवाई करते हुए सीजेएम कोर्ट ने आईपीसी की धारा 409,465,468,471, 120 बी और धारा 420 के तहत प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया. कोर्ट में दिये आवेदन में मुजफ्फरपुर के मीनापुर और बंदरा प्रखंड में बड़े पैमाने पर



यह भी पढ़ें- बिहार में नित्यानंद और दिल्ली में मनोज बने भाजपा के नए अध्यक्ष
सिनेमाघरों में अनिवार्य रूप से बजाया जाये राष्ट्रीय गान : सुप्रीम कोर्ट

फर्जी टीईटी शिक्षकों को वेतन मद में सरकारी राशि का भुगतान का आरोप लगाया गया है. साथ ही जिले के सभी प्रखंडों में शिक्षा विभाग के सीडी से मिलान कर सत्यापित शिक्षकों को ही वेतन भुगतान करने के आदेश का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है.