बिहार सरकार को SC से झटका, नहीं होगी टुन्ना पांडे की जमानत रद्द

लाइवसिटीज डेस्क : हावड़ा-गोरखपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस में सवार नाबालिग लड़की के साथ कथित यौन उत्पीड़न मामले में टुन्ना पांडे को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार की जमानत रद्द करने की याचिका पर सुनवाई करते हुए टुन्ना  को बड़ी राहत दी है.

कोर्ट ने टुन्ना की जमानत रद्द करने की याचिका को खारिज कर दिया है. कोर्ट में सुनवाई के दौरान टुन्ना जी के वकील ने बताया कि इस मामले में टुन्ना जी पहले ही 92 दिन जेल में रह चुके हैं, अब उनकी जमानत रद्द करने का कोई आधार नहीं बनता.



इस मामले में पीड़िता और पीड़िता के पिता के बयान में भी विरोधाभास की बात सामने आई थी. बता दें कि पटना हाईकोर्ट ने 24 अक्टूबर को टुन्ना जी पांडे को जमानत दी थी. जिसको लेकर बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत रद्द करने की याचिका दायर की थी.

मालूम हो कि हावड़ा-गोरखपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस में सवार एक नाबालिग लड़की का कथित यौन उत्पीड़न करने के आरोप में सिवान से बीजेपी के विधान परिषद सदस्य (MLC) टुन्ना पांडे को गिरफ्तार किया गया था.

मुजफ्फरपुर के रेलवे पुलिस अधीक्षक (एसआरपी) बी. एन. झा ने बताया कि 12 वर्षीय लड़की के माता-पिता द्वारा लिखित में की गई शिकायत के आधार पर बीजेपी सदस्य टुन्ना पांडे को गिरफ्तार किया था.fotorcreated

विधान पार्षद के खिलाफ जीआरपी हाजीपुर में इस तरह के मामलों के लिए IPC की धारा 354A और POCSO ऐक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था.

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी ने आरोपी MLC टुन्ना को निलंबित कर दिया था.