भोजपुरी को 8वीं अनुसूची में शामिल किया जाए : नीतीश

लाइवसिटीज डेस्क/पटना : सूबे के मुखिया और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने शनिवार को दिल्ली में भोजपुरी को संविधान की 8वीं अनुसूचि में शामिल करने की मांग की. नीतीश कुमार के इस कदम को दिल्ली में होने वाले आगामी नगर निगम के चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. जानकारों के मुताबिक नीतीश कुमार नगर निगम के चुनाव से पहले जदयू के वोट बैंक को मजबूत करने की कवायद में लगे हुए हैं.

दिल्ली की जमीन पर भोजपुरी की सियासत इसलिए भी अहम मानी जा रही है क्योंकि देश की राजधानी दिल्ली में बिहार और यूपी के भोजपुरी भाषियों की एक बड़ी आबादी बसती है. जो की चुनाव के दौरान एक अहम भूमिका निभाती हैं.



यह भी पढ़ें-
सिर्फ शराबबंदी ही नहीं, शराब फैक्ट्री भी हो बंद : मेधा पाटकर

इससे पहले इसी सप्ताह, संयोग से, भोजपुरी फिल्म अभिनेता और गायक मनोज तिवारी को भाजपा ने अपने दिल्ली इकाई के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया है. तिवारी दिल्ली के एक निर्वाचन क्षेत्र से सांसद हैं. और कहीं ना कहीं भाजपा चाहती है कि आने वाले चुनाव में भोजपुरी भाषियों का वोट बीजेपी के खाते में गिरे.nitish-kumarबता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जदयू के कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेने दिल्ली गए हुए हैं. कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करने के बाद नीतीश अंगरेजी अखबार के लीडरशिप समिट में शामिल हुए और कहा कि बिहार में महागठबंधन के बारे में कोई भी चर्चा नहीं की जानी चाहिए वो पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगा.