‘शहाबुद्दीन को तिहाड़ भेज दें, कोई आपत्ति नहीं’

नई दिल्ली/पटना. राजद नेता मो. शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल शिफ्ट किये जाने और पत्रकार राजदेव रंजन ह्त्याकांड मामले के भी दिल्ली ट्रांसफर पर बिहार सरकार को कोई आपत्ति नहीं है. सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में आज चल रही सुनवाई में यह बात कही है.



इस मामले में कोर्ट में चल रही सुनवाई पर आज कोई फैसला नहीं आ सका है. बुधवार को दिन में 2 बजे फिर से सुनवाई होगी.

इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कई बड़े सवाल उठाए थे. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि क्यों ना सारे केस दिल्ली ट्रांसफर कर दिए जाएं. क्यों ना शहाबुद्दीन को भी सिवान से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए.

shahabuddin-supreme-court

आपको बता दें कि 24 अक्टूबर 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने सिवान के व्यवसायी चंदा बाबू और पत्रकार राजदेव रंजन आशा रंजन की याचिकाओं की सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार, बिहार सरकार और खुद शहाबुद्दीन को नोटिस देकर पूछा था कि आरोपी को आखिर तिहाड़ जेल में क्यों न शिफ्ट कर दिया जाए.

साथ ही मृतक पत्रकार की पत्नी आशा रंजन ने कोर्ट से मांग की थी कि शहाबुद्दीन के सिवान में रहने से जान का खतरा है और यह डर भी है कि कहीं केस प्रभावित न हो जाए. अतएव शहाबुद्दीन को किसी बाहर की जेल में शिफ्ट किया जाए. शहाबुद्दीन सिवान में रहेंगे तो हमेशा डर बना रहेगा कि वे कहीं साक्ष्यों को प्रभावित न कर दें.

यह भी पढ़ें :

शहाबुद्दीन पर सुप्रीम कोर्ट ने खड़े किए कई सवाल, अगली सुनवाई कल
पत्रकार हत्याकांड : शहाबुद्दीन ने खुद को किया अलग, SC से CBI जांच की मांग