चारा घोटाला : लालू आज निकलेंगे रांची, राजद नेता बोले – उनके लिए हो रही इबादत

lalu-yadav-crpf
लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

पटना : बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले के एक मामले में शनिवार 23 दिसंबर को फैसला आना है. झारखंड के रांची सीबीआई कोर्ट में चारा घोटाले के एक मामले में सुनवाई बीते बुधवार को ही पूरी हो गयी है. इस मामले में शनिवार को कोर्ट की ओर पूरे बिहार की निगाहें लगी होंगी. मिली जानकारी के अनुसार सुबह 11 बजे कोर्ट की कार्रवाई शुरू होगी. इसके लिए लालू प्रसाद आज शुक्रवार को दोपहर बाद रांची के लिए रवाना होंगे. उनके साथ बिहार के एक और पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा समेत 22 लोगों की किस्मत का भी फैसला होगा.

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें 

इधर बिहार में आज लालू प्रसाद को लेकर राजद नेताओं की ओर से बयानबाजी का दौर जारी है. वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी और जगतानंद सिंह ने कहा है कि लालू प्रसाद को साजिश के तहत फंसाया गया है. उन्हें नयायपालिका पर पूरा भरोसा है. राजद के विधायक भाई वीरेन्द्र ने कहा कि लालू जी को न्याय मिले, इसके लिये लोग ईबादत कर रहे हैं. हमें पूरी उम्मीद है कि न्यायपालिक से न्याय मिलेगा और साजिश की हवा निकलेगी.

क्या है पूरा मामला

चारा घोटाले से संबंधित यह देवघर कोषागार से 84 .54 लाख रुपये की अवैध निकासी का मामला था. आरसी 64 ए /96 के इस मामलें में बुधवार को दोनों पक्षों की बहस समाप्त होते ही सीबीआई कोर्ट ने फैसले की तारीख निर्धारित की थी. इस मामले में संलिप्त लोगों में शुरुआत से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है. सरकारी गवाह पीके जायसवाल एवं सुशील झा ने निर्णय से पहले ही अपना दोष स्वीकार कर लिया था. अब 21 साल बाद चारा घोटाले के इस चर्चित मामले में 23 दिसंबर को फैसला सुनाया जायेगा. इस मामले में सीबीआई ने 23 जुलाई 1997 को चार्जशीट फाइल की थी.

सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने फैसले के दिन सभी आरोपियों को निजी तौर पर उपस्थित होने का आदेश दिया था. इनमें लालू प्रसाद यादव, डॉ जगन्नाथ मिश्र, सांसद जगदीश शर्मा, पूर्व सांसद डॉ आर के राणा, बिहार के पूर्व पशुपालन मंत्री विद्या सागर निषाद के अलावा आईएएस अधिकारी एवं पशुपालन अधिकारी का भी फैसला होना था. चारा घोटाला सीबीआई के इतिहास का वो मामला है जिसमें बड़ी संख्या में आरोपियों को सज़ा हुई है.