राहुल गांधी का फैसला : गुजरात हिलाने वाले अल्‍पेश ठाकुर अब बिहार में कांग्रेस को संभालें

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ अल्पेश ठाकुर (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्‍क : कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने बिहार कांग्रेस को लेकर बड़ा निर्णय किया है. गुजरात वाले शक्ति सिंह गोहिल पहले ही बिहार के प्रभारी महासचिव बनाए गए थे. गोहिल बिहार में खूब पसीना भी बहा रहे हैं. दूसरी बात है कि अभी बिहार कांग्रेस कार्यवाहक अध्‍यक्ष के सहारे ही चल रही है. लेकिन, बड़े फैसले के तहत राहुल गांधी ने आज 23 अगस्‍त को गुजरात वाले अल्‍पेश ठाकुर को ऑल अंडिया कांग्रेस कमेटी का सेक्रेट्री नियुक्‍त किया. साथ में लगे हाथ, बिहार का जिम्‍मा भी दे दिया.

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी में आज कई सेक्रेट्री नियुक्‍त किए गए. अशोक गहलोत ने राहुल गांधी के निर्णय की अधिसूचना जारी की है. नवनियुक्‍त सेक्रेट्री हैं – शकील अहमद खान(विधायक), राजेश धमानी, बी पी सिंह, मो. जावेद, शरत राउत, अल्‍पेश ठाकुर, सी वी चांद रेड्डी और बी एम संदीप. सबों को उनके प्रभार का राज्‍य आवंटित कर दिया गया है. अल्‍पेश ठाकुर बिहार में कांग्रेस के तीसरे सेक्रेट्री होंगे.

गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकुर.

कौन हैं अल्‍पेश ठाकुर ?
अल्‍पेश ठाकुर गुजरात के हैं. विधायक हैं. अल्‍पेश ठाकुर की पहचान गुजरात विधान सभा के पिछले चुनाव में हुई थी. हार्दिक पटेल, जिग्‍नेश मेवानी और अल्‍पेश ठाकुर की तिकड़ी ने भाजपा का नाकोंदम कर दिया था. चुनाव इतना टफ था कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी अंत तक परेशान थे. बहुत अधिक सभाएं करनी पड़ी थीं.

अल्‍पेश ने कांग्रेस में शामिल होकर चुनाव लड़ा. वे गुजरात में ओबीसी जातियों के वोटर के बड़े लीडर हैं. समझा जाता है कि बिहार में अल्‍पेश ठाकुर की ड्यूटी लगाने का मकसद भी ओबीसी वोट बैंक को टारगेट करना है. हार्दिक पटेल ने भी दो महीने पहले पटना की यात्रा की थी. तब वे तेजस्‍वी यादव से भी मिले थे.

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी

बिहार कांग्रेस को अध्‍यक्ष का इंतजार
बिहार कांग्रेस को प्रभारी महासचिव और तीन सचिव भले मिल गया हो, लेकिन स्‍थायी अध्‍यक्ष का अब भी इंतजार है. कौकब कादरी कार्यवाहक अध्‍यक्ष हैं. उन्‍हें तब यह जिम्‍मा दिया गया था, जब अशोक चौधरी को पार्टी ने बाहर कर दिया था.

कांग्रेस ने जारी की अधिसूचना.

बिहार कांग्रेस की सूरत ऐसी है कि कौकब कादरी भी नहीं जानते कि वे कितने दिनों तक रहेंगे. नए अध्‍यक्ष के रूप में अखिलेश प्रसाद सिंह, मदन मोहन झा, अशोक राम, निखिल कुमार और प्रेमचंद मिश्रा का नाम चलता रहता है, लेकिन अंतिम फैसला कोई नहीं जानता.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*