नोटबंदी को लेकर जदयू पर आप का हमला

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार की सियासत में आप भी अपनी स्थिति मजबूत करने के मूड में दिखने लगी है. दो सप्ताह पहले बिहार के आप प्रतिनिधि मंडल ने दिल्ली में ​सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से भेंट की. अब आप के बिहार प्रभारी ने जदयू पर बड़ा हमला किया है. उन्होंने कहा कि जदयू नोटबंदी का समर्थन कर जनता के साथ अन्याय किया है. उसे जनता से माफी मांगनी चाहिए.

आप के बिहार प्रभारी व दिल्ली के बुरारी विधायक संजीव झा ने कहा कि आम आदमी पार्टी शुरू से ही नोटबंदी का विरोध करती रही है. केंद्र सरकार ने यह सब जान-बूझकर सुनियोजित तरीके से किया है. इसका उद्देश्य अपने चहेते अमीर उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाना था. लेकिन नोटबंदी ने निम्न तथा मध्यम वर्गीय परिवारों की कमर तोड़ कर रख दी. गरीबों को आर्थिक स्तर पर रीढ़ विहीन करना भी एक राजनीतिक साजिश ही थी. उन्होंने कहा कि इसके पीछे यह मंशा थी कि भविष्य में केंद्र में बैठी भाजपा सरकार को कोई चुनौती ही न दे सके.

 

संजीव झा ने कहा कि केंद्र की साजिश की पोल अब खुल चुकी है. आम आदमी पार्टी पूरे दम-खम के साथ केंद्र की भाजपा सरकार की विरोध करेगी. उनकी बुरी नीयतों के खिलाफ अभियान चलाया जायेगा. लेकिन दुर्भाग्य है कि बिहार की सत्तारूढ़ पार्टी जदयू ने नोटबंदी का समर्थन किया है. इतना ही नहीं, जदयू ने जीएसटी के वर्तमान फॉर्मेट का भी समर्थन किया है. आम आदमी पार्टी जदयू से मांग करती है कि वह अपने समर्थन की भूल के लिए सार्वजनिक तौर पर बिहार की जनता से माफी मांगें. माफी मांगने के लिए जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष को सामने आना चाहिए.

आप के बिहार प्रभारी ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार की खुद की घोषणा के अनुसार देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 2% की गिरावट आई है, जबकि वास्तव में यह गिरावट 4% है. केंद्र सरकार ने असली गिरावट को छुपाने के लिए जीडीपी जोड़ने की पूर्व की प्रक्रियाओं में ही बदलाव कर दिया. नोटबंदी एवं जीएसटी की उच्च टैक्स दर इन स्थितियों के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार है.

नोटबंदी पर आम आदमी पार्टी यह भी कहती रही है कि यह व्यापक स्तर का सुनियोजित घोटाला है. शुरू में बहुत सारे लोगों को यह बात अटपटी लगी थी, पर अब सच्चाई सबके सामने है. नोटबंदी की आड़ में केंद्र ने अपने चहेते उद्योगपतियों का लाखों-करोड़ों रुपये का कर्ज माफ कर दिया. सूचना के अधिकार नियम के तहत जानकारी मांगने पर वह डाटा उपलब्ध कराने से इनकार कर दे रही है. नोटबंदी की हकीकत यह है कि 99% से ज्यादा रुपये रिजर्व बैंक के पास वापस आ गये. दरअसल इसकी आड़ में केंद्र सरकार ने भ्रष्ट उद्योगपतियों, नेताओं, अफसरशाहों एवं पुलिस द्वारा अनैतिक तरीकों से अर्जित काले धन को सफेद कर दिया.

यह भी पढ़ें-  जमुई विवादः थानेदार संजय कुमार लाइन हाजिर, 40 गिरफ्तार, 6 पर FIR
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*