लालू प्रसाद को कांग्रेस का मिला ‘हाथ’, कहा- हर हाल में हम उनके साथ

कौकब कादरी वर्तमान प्रभारी प्रदेश अध्यक्ष, कांग्रेस

लाइव सिटीज डेस्क : चारा घोटाले के देवघर से जुड़े मामले में सियासत तेज है. बिहार से लेकर झारखंड तक बयानों की जंग तेज है. एनडीए जहां हमलावर बना हुआ है, वहीं राजद के समर्थक मामले में दोषी ठहराए गए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के पक्ष में गोलबंद होते नजर आ रहे हैं. जदयू के बागी सांसद शरद यादव के बाद अब कांग्रेस की ओर से बड़ा बयान आया है. कांग्रेस भले ही आंदोलन नहीं कर रहा हो, लेकिन उसने बयान देकर जता दिया कि वह इस संकट की स्थिति में लालू प्रसाद के साथ है. रविवार को कांग्रेस की ओर से मीडिया को बिहार के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने दिया. साथ ही उन्होंने नीतीश सरकार पर हमला भी बोला.

कांग्रेस रविवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के पक्ष में खुल कर सामने आ गयी है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि हमारी पार्टी और हमलोग लालू प्रसाद के साथ हैं. हर हाल में लालू प्रसाद के साथ कांग्रेस खड़ी है. उन्होंने कहा कि यह सच है कि लालू प्रसाद का जेल जाना विपक्ष के लिए झटका है लेकिन कांग्रेस हर हाल में लालू प्रसाद के साथ है. इतना ही नहीं, कौकब कादरी ने बिहार की नीतीश सरकार पर भी हमला किया. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार को भगवाकरण करने में लगे हैं. उन्होंने नवादा के एक स्कूल को कार्यक्रम के लिए एबीवीपी को एलॉट करने का आरोप भी सीएम पर लगाया.



चारा घोटाला से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

बता दें कि रविवार को ही जदयू के बागी नेता शरद यादव ने भी लालू प्रसाद के समर्थन में बयान दिये हैं. उन्होंने भी दो टूक कहा है कि ऐसे कई लोग हैं, जो इस केस में दोषी थे, लेकिन उन्हें बरी कर दिया गया. शरद यादव का इशारा देवघर कोषागार से जुड़े इस मामले मेें बरी हुए जगन्नाथ मिश्रा की ओर था. हालांकि उन्होंने जगन्नाथ मिश्रा का नाम नहीं लिया. वहीं शरद यादव ने यह भी कहा कि इसे लेकर ऊपर के कोर्ट में अपील की जायेगी. उम्मीद है कि लालू प्रसाद को ऊपर के कोर्ट से न्याय मिलेगा.

लालू प्रसाद से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

बता दें कि चारा घोटाला के देवघर से जुड़े मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, जगदीश शर्मा व डॉ आरके राणा सहित कुल 16 आरोपियों को रांची सीबीआई के विशेष कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इस मामले की सुनवाई सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह के कोर्ट में चल रही है और 3 जनवरी को इस मामले में सजा के बिंदु पर फैसला आने वाला है.