सियासत की श्रृंखला : मैदान वही, कप्तान वही, बस बदल गये प्लेयर्स… यह सब देखने को मिला पटना में

लाइव सिटीज डेस्क : सियासत में सबकुछ संभव है. इसका जीता-जागता उदाहरण बिहार में ही देखने को मिला. मैदान वही, कप्तान वही, बस प्लेयर्स बदल गये. यह सब दिखा रविवार को आयोजित मानव श्रृंखला में. गांधी मैदान में फिर बनी मानव श्रृंखला. फिर इस श्रृंखला के कप्तान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही थे, लेकिन प्लेयर्स बदल गये थे. हाथ थामने वाले चेंज हो गये.

जी हां, बात कर रहे हैं रविवार को बिहार में बनी मानव श्रृंखला की. यह मानव श्रृंखला सीएम नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल थी. इसकी तैयारी जोरशोर से चल रही थी. यह सब पटना में देखने को मिला भी. पटना में बनी मानव श्रृंखला में खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मौजूद रहे. उनके साथ कई मंत्री भी शामिल थे. लेकिन इस बार बगल में थामने वाले हाथ बदल गये थे.

रविवार को गांधी मैदान में सीएम नीतीश कुमार के साथ डिप्टी सीएम सुशील मोदी

पटना के गांधी मैदान में आयोजित मानव श्रृंखला में इस बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ उनके दायें साइड भाजपा के वरीय नेता व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी तथा बांये साइड विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी थे. गौरतलब है कि पिछले साल 2017 में भी शराबबंदी के समर्थन में पूरे बिहार में मानव श्रृंखला बनायी गयी थी. तब बिहार में सरकार महागठबंधन की थी. तब भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही थे, लेकिन साथी कोई और थे. तब का फोटो देखें तो पिछले साल मानव श्रृंखला के दौरान नीतीश कुमार के दांये साइड विजय कुमार चौधरी ही थे, लेकिन बायें साइड का साथी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद थे. सभी एक दूजे के हाथ थामे थे.

पिछले साल मानव श्रृंखला में साथ में थे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद

बहरहाल अब बिहार की सियासत बदल गयी है. अब बिहार में एनडीए की सरकार है. मुख्यमंत्री वही हैं नीतीश कुमार, लेकिन इस बार दोस्त बदल गये. पॉलिटिकल कॉरिडोर में कहा भी जा रहा है कि मैदान वही, कप्तान वही, पर पॉलिटिक्स के प्लेयर्स बदल गये हैं. बता दें कि इन दिनों राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद चारा घोटाले के एक मामले में रांची के होटवार जेल में बंद हैं. वहीं अन्य मामलों में सुनवाई चल रही है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*