जदयू का फिर हमला : सुशील मोदी अपने दागी MP-MLA के खिलाफ क्यों नहीं जांच कराते

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार महागठबंधन में पिछले एक पखवारे से चल रहे घमासान के बीच जदयू ने फिर बीजेपी पर करारा हमला किया है. जदयू ने बीजेपी को आपराधिक आंकड़ों को आईना दिखाया है. जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भाजपा के वरीय नेता सुशील कुमार मोदी पर गंभीर आरोप लगाये हैं.

जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने अपने नये बयान में कहा है कि आज यदि बीजेपी अपने दागी सांसदों को बाहर निकाल दे, तो आज ही केंद्र सरकार गिर जायेगी. केंद्र की सरकार भ्रष्टाचारी और अपराधी सांसदों की बदौलत चल रही है. यदि बीजेपी में नैतिकता है तो वो अपने दागी सांसदों को पार्टी से बाहर करे. जदयू प्रवक्ता का यह बयान ऐसे समय में आया है जब बिहार सरकार से डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को मंत्रिमंडल से निकालने की मांग बीजेपी लगातार कर रही है और इसे लेकर वह प्रेशर बनाये हुए है.

संजय सिंह यहीं पर नहीं रुके. उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में सवाल उठाते हुए कहा कि सुशील मोदी बताएं कि क्या भाजपा ने जिनकी बदौलत देश में सरकार बनायी है, बीजेपी के उन 282 सांसदों में से 98 पर गंभीर अपराधिक मामले नहीं हैं? क्या उन सांसदों पर हत्या, बलात्कार और घोटाले जैसे संगीन आरोप नहीं हैं? उन्होंने कहा कि 20 केंद्रीय मंत्रियों पर अपराध के गंभीर आरोप हैं, फिर किस नैतिकता की बात करते हैं सुशील मोदी.

सुशील मोदी से सवाल करते हुए जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि उन्हें अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, यदुरप्पा, वसुंधरा राजे, शिवराज सिंह चौहान, रमन सिंह, सुषमा स्वराज, पंकजा मुंडे, रेड्डी बंधु के बारे में भी विस्तार से बताना चाहिए. इन सबके खिलाफ बीजेपी ने जांच क्यों नही करायी. कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि कहते हैं न जब सैयां भये कोतवाल तो अब डर काहे का, कुछ ऐसा ही हाल बीजेपी के इन भ्रष्टाचारियों के साथ है. जब पूरी जांच एजेंसी पर इन्हीं का कब्ज़ा है, तो फिर इन्हें दोषी कौन करार देगा? वाह रे बीजेपी का न्याय, अपने लिए तो अपराध करने पर मंत्री बनाते हैं.

 

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी अपने गणित को सुधारे, बिहार सरकार पर बेतुका आरोप लगाने बजाय अपनी राजनीति को सही दिशा दें. उन्हें अपनी पार्टी के बारे में जानकारी होनी चाहिए. बिहार भाजपा में 64 परसेंट एमएलए अपराधी प्रवृति के हैं. यानी बीजेपी के कुल 53 विधायकों में से 34 आपराधिक पृष्ठभूमि वाले हैं. जब ये अपराधिक चरित्र वाले विधायक बीजेपी से टिकट पा रहे थे, तो क्या सुशील मोदी कान तेल डाल कर सो रहे थे. उनमें हिम्मत है तो वो अपने दल के आपराधिक विधायकों का इतिहास बताएं.

इसे नही पढ़ें :
VVIP कैटेगरी से बाहर हुए लालू-राबड़ी, एयरपोर्ट पर जांच बिना No Entry 
प्रिय नीतीश ! तुम कभी-कभी TV देख लो, जहर का लहर जीभ पर है 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*