लालू प्रसाद को सबसे अधिक सजा सुनानेवाले जज शिवपाल सिंह गये गोड्डा, एडीजे के पद पर ट्रांसफर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : जज शिवपाल सिंह को आप भूले नहीं होंगे. जज शिवपाल सिंह अचानक उस दिन चर्चा में आ गये, जब उन्होंने चारा घोटाले में लालू प्रसाद को कैद की सजा सुनाई. पहली बार किसी जज ने साढ़े तीन साल की कैद की सजा सुनाई थी. इसके बाद लास्ट मामले में जज शिवपाल सिंह ने 7-7 साल की सजा सुनाई थी. दोनों सजा अलग-अलग चलने भी उन्होंने आदेश दिया. लालू प्रसाद को सबसे अधिक सजा सुनाने वाले जज शिवपाल सिंह का तबादला हो गया है. उनका तबादला गोड्डा किया गया है.

जी हां, बात कर रहे हैं रांची सीबीआई स्पेशल कोर्ट के जज शिवपाल सिंह का. सीबीआई के स्पेशल जज शिवपाल सिंह का ट्रांसफर झारखंड के गोड्डा जिले में किया गया है. उनका ट्रांसफर एडीजे के पद पर किया गया है. झारखंड से आ रही जानकारी के अनुसार कुल 12 न्यायिक पदाधिकारियों के ट्रांफर की अधिसूचना जारी की गई है. यह अधिसूचना हाईकोर्ट के महानिबंधक अंबुज नाथ ने जारी की है.

इसी के तहत शिवपाल सिंह को दो साल के बाद एडीजे के पद पर रांची से गोड्डा भेजा गया है. जबकि, उनके स्थान पर धनबाद के एडीजे सुधांशु कुमार शशि को लाया गया है. शिवपाल सिंह को गोड्डा का जिला एवं अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश बनाया गया है. रांची में पदस्थापित एक अन्य एडीजे श्यामनंदन तिवारी को चाईबासा के एडीजे के पद पर स्थानांतरित किया गया है.

तेजस्वी ने की राज्यपाल से भेंट, बोले- JDU के कई विधायक हमारे साथ, हमें दें सरकार बनाने का मौका

बता दें कि लालू प्रसाद को दो मामलों में शिवपाल सिंह ने सजा सुनाई थी. इतना ही नहीं, उन्होंने लालू प्रसाद के अलावा कई आईएएस को भी चारा घोटाले मामले में आरोपित बनाने के लिए समन जारी किया था. इतना ही नहीं, उन्होंने चारा घोटाले मामले में सजा पर टिप्पणी करनेवालों को भी नोटिस जारी किया था. इसमें लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह, शिवानंद तिवारी व कांग्रेस नेता मनीष तिवारी शामिल हैं. हालांकि हाईकोर्ट ने इस नोटिस को खारिज कर दिया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*